टी आर एस सरकार में अल्पसंख्यकों की विकास और कल्याण के आदर्श उपाय

टी आर एस सरकार में अल्पसंख्यकों की विकास और कल्याण के आदर्श उपाय

हैदराबाद: टी आर एस के सदस्य विधान परिषद मुहम्मद फ़ारूक़ हुसैन ने दूसरी बार‌ चीफ़ मिनिस्टर और मंत्री की हैसियत से शपथ लेने वाले के सी आर और मुहम्मद महमूद अली को बधाई देते हुए टी आर एस को भारी बहुमत‌ से कामयाब बनाने पर राज्य की जनता विशेष रूप से अल्पसंख्यकों का धन्यवाद किया।

मुहम्मद फ़ारूक़ हुसैन ने बताया कि चीफ़ मिनिस्टर के सी आर अल्पसंख्यकों के हमदरद है पिछले साढे़ चार साल के दौरान अल्पसंख्यकों की विकास और कल्याण के लिए आदर्श स्कीमात परिचय कराने वाले के सी आर ने दूसरी बार मुख्यमंत्री की शपथ लेने के मौके पर सिर्फ एक मुस्लिम मंत्री मुहम्मद महमूद अली को उनके साथ शपथ दिलाते हुए ये साबित कर दिया कि वो मुस्लमानों के लिए दिल में सच्ची मुहब्बत रखते हैं।

जिस पर वो राज्य‌ के सभी मुस्लमानों की ओर‌ से चीफ़ मिनिस्टर से धन्यवाद करते हैं । मुहम्मद फ़ारूक़ हुसैन ने कहा कि राज्य‌ के सभी अल्पसंख्यकों ने एकतरफ़ मतदान‌ करते हुए टी आर एसकी कामयाबी में अहम रोल अदा किया है जब कि कांग्रेस। तेलुगु देशम । टी जे एस और सी पी आई की ओर‌ से टी आर एस के धर्मनिरपेक्षता पर संदेह करने की कोशिश की गई। लेकिन टी आर एस की लहर में पीपल्ज़ फ्रंट बह गई। सी पी आई और सी पी एम का खाता नहीं खुला।

हरीश राउ को जितनी बहुमत‌ हासिल हुई है इतने वोट तेलंगाना जना समीती के उम्मीदवार हासिल नहीं कर पाए । बी जे पी की सीटें 5 से घट कर एक तक हो गई है। तेलंगाना में टी आर एस की सूनामी सारे मुल्क में बेहस का मुद्दा बना हुआ है। अगले लोक सभा के चुनाव‌ में तेलंगाना के सभी पार्लीयामेंट सीटों पर टी आर एस का क़बज़ा हो जाएगा। बड़ी कोशिश‌ के बाद अलग तेलंगाना राज्य‌ हासिल करने वाले के सी आर सुनहरे तेलंगाना के ख़ाबों को शर्मिंदा करने में जुटे हुए हैं साथ ही राष्ट्र‌ सतह पर विरोधी बी जे पी और विरोधी कांग्रेस फैडरल फ्रंट बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

मुहम्मद फ़ारूक़ हुसैन ने कहा कि उन्हें यक़ीन है जिस तरह तेलंगाना राज्य‌ और नई राज्य‌ में दो बार‌ टी आर एस को सत्ता में लाने में कामयाब होने वाले के सी आर फैडरल फ्रंट की स्थापित करने में कामयाब होंगे उन्हें उम्मीद है अगले पाँच साल के दौरान तेलंगाना में अल्पसंख्यकों की विकास देश‌ के लिए मिसाली होगी और अल्पसंख्यकों के बजट में ज़बरदस्त वृद्धि होगी। अल्पसंख्यकों बेरोज़गार नौजवानों के लिए ख़ुद रोज़गार की स्कीम‌ परिचय कराई जाएँगी।

Top Stories