Wednesday , December 13 2017

टी आर एस हुकूमत का एक माह मुकम्मिल

तेलंगाना राष़्ट्रा समीती ( टी आर एस ) के सदर के चन्द्रशेखर राव‌ की क़ियादत में तेलंगाना की रियासती हुकूमत ने अपना एक महीना मुकम्मिल करलिया।

तेलंगाना राष़्ट्रा समीती ( टी आर एस ) के सदर के चन्द्रशेखर राव‌ की क़ियादत में तेलंगाना की रियासती हुकूमत ने अपना एक महीना मुकम्मिल करलिया।

के चन्द्रशेखर राव ने 10 वुज़रा के साथ 2 जून को बहैसीयत चीफ़ मिनिस्टर का हलफ़ लिया था। उन्होंने अवाम से किए गए वादे की तकमील करते हुए एक मुस्लिम लीडर ( महमूद अली ) और एक दलित लीडर ( टी राजिया ) को डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर मुक़र्रर किया।

किसानों के क़र्ज़ माफ़ करने के अहकाम महिज़ चंद तकनीकी वजूहात की बिना पर जारी नहीं किए जा सके। नई रियासत तेलंगाना के नए चीफ़ मिनिस्टर को बेशुमार मसाइल दरपेश हैं लेकिन फ़िलहाल उनकी तमाम तर तवज्जा बर्क़ी बोहरान पर क़ाबू पाने और दुसरे इंतेज़ामी मसाइल पर मर्कूज़ है।

जिन में तेलंगाना और आंध्र प्रदेश जैसी दो रियासतों के दरमयान कृष्णा से पानी की तक़सीम शामिल है।
के सी आर ने मुस्लिम अक़लियती नुक़्ता-ए-नज़र से नुमायां एहमीयत का हामिल ये एलान भी किया कि दरगाह हज़रत हुसैन शाह वली के तहत हज़ारों एकऱ् क़ीमती मौक़ूफ़ा अराज़ी वाक़्ये मनीकुंडा से लैंको हिलस और दूसरों की तरफ़ से किए गए मुबय्यना नाजायज़ क़बज़े ख़त्म किए जाऐंगे।

इस सिलसिले में साबिक़ हुकूमत आंध्र प्रदेश की तरफ़ से सुप्रीम कोर्ट में दायर करदा इस हलफ़नामा से दसतबरदारी भी इख़तियार की जाएगी जिस में साबिक़ हुकूमत ने ये दावा किया था कि मनीकुंडा की मज़कूरा ज़मीनात वक़्फ़ बोर्ड की जायदाद नहीं हैं बल्कि इस ( हुकूमत ) की मिल्कियत हैं।

चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ ने शहरे हैदराबाद के तमाम बलदी मसाइल की जल्द यकसूई और शहर में फ़िर्कावाराना अमन-ओ-हम आहंगी की बरक़रारी को यक़ीनी बनाने के लिए मुख़्तलिफ़ इक़दामात किए हैं लेकिन फ़िलहाल चूँकि तेलंगाना में बर्क़ी का शदीद बोहरान है और टी आर एस हुकूमत इस सिलसिले में मर्कज़ से तआवुन के अलावा पड़ोसी रियासत छत्तीसगढ़ से बर्क़ी ख़रीदी का फ़ैसला करचुकी है।

TOPPOPULARRECENT