Thursday , December 14 2017

टोली चौकी में पुलिस स्टेशन की ज़रूरत

शहर हैदराबाद के ग़नजान आबादी वाले इलाक़ों में एक अहम तरक़्क़ी याफ़्ता इलाक़ा टोली चौकी है। टोली चौकी का दायरा काफ़ी वसीअ और अरीज़ है और टोली चौकी इलाक़ा के तहत कई कॉलोनियां आती हैं। नदीम कॉलोनी, सब्ज़ा कॉलोनी, पैरामाउंट कॉलोनी, बृंदावन

शहर हैदराबाद के ग़नजान आबादी वाले इलाक़ों में एक अहम तरक़्क़ी याफ़्ता इलाक़ा टोली चौकी है। टोली चौकी का दायरा काफ़ी वसीअ और अरीज़ है और टोली चौकी इलाक़ा के तहत कई कॉलोनियां आती हैं। नदीम कॉलोनी, सब्ज़ा कॉलोनी, पैरामाउंट कॉलोनी, बृंदावन कॉलोनी और दीगर कॉलोनियां आती हैं। इलाक़ा बड़ा होने के सबब यहां पर आबादी का तनासुब भी बहुत ज़्यादा नज़र आता है। ज़ाहिर सी बात है जितनी ज़्यादा तादाद में लोग होंगे वहां पर इतने ही ज़्यादा मसाइल दर्पेश होते रहते हैं।

टोली चौकी मेन रोड पर एक पुलिस सब स्टेशन वाक़े है जोकि गोलकुंडा पुलिस स्टेशन के तहत चलता है। टोली चौकी की अक्सर कॉलोनियां इसी सब स्टेशन के दायरा में आती हैं। जब हम ने सब स्टेशन का मुशाहिदा करने की ग़रज़ से वहां गए तो वहां सिर्फ़ एक कमरे में चार ता पाँच कुर्सियां पड़ी हुई थीं। कमरे में ना तो कोई जवान था और ना तो कोई पुलिस का ओहदेदार। कुछ देर गुज़रने के बाद एक कांस्टेबल आए जोकि हालत से ऐसा महसूस हो रहा था कि अभी अभी डयूटी पर आए हैं।

शर्ट के बटन लगाते हुए अंदर दाख़िल हो गए और अंदर पहुंच कर इनशर्ट करने लगे। और हम से अंदर आने की वजह दरयाफ़्त करना तक मुनासिब नहीं समझा और ख़ामूश इधर-उधर देखने लगे। बहरहाल हम ने उन से पहल करके कुछ मालूमात करने की कोशिश की लेकिन हमें कोई मुसबत अंदाज़ में जवाब मौसूल नहीं हुआ। ऐसा महसूस हो रहा था कि उन्हें इलाक़ा के बारे में मालूमात नहीं हैं।

यहां पर जो सब स्टेशन है इलाक़ा की वुसअत के सबब नाकाफ़ी महसूस हो रहा है। हमारे इलाक़ा में सरका की वारदात, जराइम वग़ैरा की रोक थाम के लिए एक पुलिस स्टेशन का क़ियाम बहुत ज़रूरी है लिहाज़ा हुकूमत से अपील है कि टोली चौकी इलाक़ा के लिए जल्द अज़ जल्द पुलिस स्टेशन के क़ियाम की मंज़ूरी दे ताकि इलाक़ा में अमनो अमान की सूरते हाल को मुम्किन बनाया जा सके और लोगों में पैदा हो रहे डर और ख़ौफ़ को ख़त्म किया जा सके।

TOPPOPULARRECENT