ट्रंप के खिलाफ जमीअत उलमा-ए-हिंद ने निकाला जुलूस, हुई नारेबाजी

ट्रंप के खिलाफ जमीअत उलमा-ए-हिंद ने निकाला जुलूस, हुई नारेबाजी

अमरोहा :  जमीतय उलमा-ए-हिंद के आह्वान पर अमेरिका के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोगों ने नारेबाजी की। उनके हाथों में नारे लिखी तख्तियां थीं। जुमे की नमाज के बाद मदरसा अंसारुल उलूम नई बस्ती में एकत्र नमाजी जुलूस की शक्ल में बुधबाजार होकर जामा मस्जिद पहुंचे। उनके हाथों में इजराइल, अमेरिकी सदर डोनाल्ट ट्रंप के खिलाफ नारे लिखी तख्तियां थी। रास्ते में लोगों ने इंकलाब जिंदाबाद, अमेरिका मुर्दाबाद के नारे लगाए। हाफिज मोहम्मद फरमान ने ज्ञापन पढ़कर सुनाया।

उन्होंने कहा कि भारत ने हमेशा स्वतंत्र फलस्तीन का समर्थन किया है, जिसकी राजधानी येरूशलम रही। अब अमेरिकी सदर इजराइल की राजधानी येरूशलम घोषित करना चाहते हैं। इसको इस्लाम के खिलाफ साजिश करार दिया। इसके बाद कोतवाल को ज्ञापन दिया। इसमें मुफती मुईनुद्दीन ने दुआ फरमाई। इसमें हाजी फजले हक, मौलाना मोहम्मद इब्राहीम, कारी अब्दुल हफीज, हाजी अब्दुल सत्तार, मौलाना रिजवान, फारूक अंसारी, नईम हसन लाओजी, हाजी इब्ने हसन, हाजी नईम, कमरुद्दीन, हाजी चांद आलम, मोहम्मद गालिब, मोहम्मद ताहिर, डा. अमीरुद्दीन, कारी अबुजर, मोहम्मद राशिद, हाफिज मोहम्मद कामिल आदि थे।

Top Stories