Wednesday , September 19 2018

ट्रम्प के अमानवीय फैसले का टारगेट मुसलमान हैं: एमनेस्टी इंटरनेशनल

दुबई: डोनाल्ड ट्रम्प की ओर से 7 देशों के नागरिकों के अमेरिका में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने के फैसले की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भरपूर निंदा की जा रही है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

अल अरबिया डॉट नेट के अनुसार इस संबंध में मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल ने बता दिया है कि उक्त फैसले का लक्ष्य मुसलमान और उनकी भावनायें हैं। संगठन ने फ़ैसले को अमानवीय और क्रूर करार दिया है।

एमनेस्टी इंटरनेशनल के निदेशक मार्गरेट हुआंग का कहना है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का यह फैसला अंतरराष्ट्रीय नियमों के उल्लंघन की श्रेणी में आता है। उन्होंने कहा कि यह मानव अधिकारों के अंतर्राष्ट्रीय नियमों का स्पष्ट उल्लंघन है जो धर्म या राष्ट्रीयता के आधार पर भेदभाव पर रोक देते हैं। मार्गरेट ने घोषणा की है कि संगठन इस फैसले से निपटने के लिए कानूनी कार्रवाई करेगी।

गौरतलब है कि अमेरिका के नए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को जारी किए एक कार्यकारी आदेश के माध्यम से 7 इस्लामी देशों के नागरिकों के अमेरिका आने पर अस्थायी प्रतिबंध लगा दिया था। इन देशों में ईरान, इराक, यमन, सीरिया, लीबिया, सोमालिया और सूडान हैं।

TOPPOPULARRECENT