Wednesday , November 22 2017
Home / World / ट्रम्प ने क्यूबा के क्रांतिकारी नेता और पूर्व राष्ट्रपति कास्त्रो को ज़ालिम व तानाशाह बताया

ट्रम्प ने क्यूबा के क्रांतिकारी नेता और पूर्व राष्ट्रपति कास्त्रो को ज़ालिम व तानाशाह बताया

वाशिंगटन। अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने क्यूबा के क्रांतिकारी नेता और पूर्व राष्ट्रपति फिदेल कास्त्रो को ‘ज़ालिम कमांडर’ करार दिया है। श्री ट्रम्प ने कहा है कि वह उम्मीद करते हैं कि क्यूबा की जनता अब अपने आज़ाद भविष्य की ओर बढ़ेंगे।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

अल अरबिया डॉट नेट के अनुसार राष्ट्रपति राउल कास्त्रो ने देर रात सरकारी टेलीविजन पर एक भाषण में बताया कि फीदल कास्त्रो मर गए हैं और उनके अंतिम संस्कार शनिवार को अदा किया जाएगा, इसके बाद डोनाल्ड ट्रम्प की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि ‘क्यूबा एक निरंकुश द्वीप है, मैं आशा करता हूँ कि आज के दिन से वह इस डर से आगे बढ़ेंगे जो उन्हें लंबी अवधि डरा रही थी, और अच्छी क्योबन जनता आखिरकार भविष्य की ओर बढ़ेंगे और आज़ादी के साथ रह सकेंगे जिसके वे हकदार हैं। ‘
डोनाल्ड ट्रम्प का कहना है कि प्रशासन जो कुछ कर सके करेगी ताकि क्यूबा के लोगों का ‘आज़ादी और समृद्धि की ओर सफर सुनिश्चित बनाया जा सके।
‘दूसरी ओर राष्ट्रपति ओबामा का कहना है कि इतिहास में कास्त्रो के भारी प्रभाव को परखा जाएगा और याद रखा जायेगा। ‘ उनका कहना था कि अमेरिका ‘क्यूबा की जनता की ओर दोस्ती का हाथ’ बढ़ा रहा था। फिदेल कास्त्रो की गिनती बीसवीं सदी में सबसे लंबे समय तक सत्ता में रहने वाले शासकों में होता है। उन्होंने 2006 में स्वास्थ्य की खराबी के कारण अस्थायी रूप से अपने भाई को सत्ता सौंपी थी। हालांकि दो साल बाद उनके भाई राउल कास्त्रो नियमित रूप से क्यूबा के राष्ट्रपति बन गए थे। फ़ीदेल कास्त्रो ने एक लंबी जीवन पाई और अंततः वह समय भी देखा जब वाशिंगटन ने हवाना के साथ पूर्ण राजनयिक संबंध स्थापित करने की घोषणा की जिसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मार्च 2016 में क्यूबा का दौरा किया।
फिदेल कास्त्रो 13 अगस्त 1926 को पैदा हुए। किशोरावस्था में वे क्यूबा के तत्कालीन तानाशाह फलगीनसियो बतस्ता के खिलाफ शुरू होने वाली आंदोलन का नेतृत्व करने वाले एक नेता के रूप में सामने आए। उन्होंने एक गुरिल्ला सेना का भी नेतृत्व किया जिसने अंततः बतस्ता सेना को हराया और 1959 में क्यूबा की सत्ता संभाल लिया।
गौरतलब है कि क्यूबा के पूर्व राष्ट्रपति और कम्युनिस्ट क्रांति के प्रमुख फिदेल कास्त्रो का 90 साल की उम्र में निधन हो गया है। उनकी एक मण्डली सरकार ने क्यूबा पर लगभग आधी सदी तक शासन किया और उन्होंने 2008 में सत्ता अपने भाई राउल कास्त्रो को स्थानांतरित कर दिया। उनके चाहने वाले उनके बारे में कहते हैं कि उन्होंने क्यूबा वापस जनता को सौंप दिया। हालांकि उनके विरोधी उन पर विपक्ष को सख्ती से कुचलने का आरोप लगाते हैं।

TOPPOPULARRECENT