Saturday , December 16 2017

ठाकरे की तदफ़ीन के बाद मुंबई में मामूलात-ए-ज़िंदगी बहाल

मुंबई में आज मामूलात-ए-ज़िंदगी बहाल होगए । कल शिवसेना के सरबराह बाल ठाकरे को सपुर्द आतिश किया गया था । टैक्सीयाँ और ऑटोरिक्शा नहीं चल रहे थे ,बाज़ार बंद थे लेकिन आज बाज़ार दुबारा खुल गए और सड़कों पर ऑटोरिक्शा और टैक्सीयाँ भी चलती नज़र आय

मुंबई में आज मामूलात-ए-ज़िंदगी बहाल होगए । कल शिवसेना के सरबराह बाल ठाकरे को सपुर्द आतिश किया गया था । टैक्सीयाँ और ऑटोरिक्शा नहीं चल रहे थे ,बाज़ार बंद थे लेकिन आज बाज़ार दुबारा खुल गए और सड़कों पर ऑटोरिक्शा और टैक्सीयाँ भी चलती नज़र आयीं।

हफ़्ते के दिन शिवसेना के सरबराह बाल ठाकरे के इंतेक़ाल की ख़बर फैलते ही हिंदूस्तान का मसरूफ़ तिजारती मर्कज़ बंद होगया था । स्कूल और कॉलिजस दीवाली की तातीलात के बाद आज खुलने वाले थे लेकिन अब उन्हें कल से खोला जाएगा हालाँकि शिवसेना ने बंद का एलान नहीं किया था लेकिन फ़ैडरेशन औफ़ एसोसीएष्णस औफ़ महाराष्ट्रा (एफ़ ए एम ) ने अपने अरकान और तिजारती बिरादरी से अपील की थी कि शिवसेना के सरबराह के एहतेराम में पीर के दिन कारोबार बंद रखे जाएं ।

जिनका इंतेखाल हफ़्ते की दोपहर को पिछ्ले चंद दिन की शदीद अलालत के बाद हुआ था ।एफ़ ए ऐम ने अपने बयान में अपने अरकान से आज श्रद्धांजलि दीवस ( यौम ख़िराज-ए-अक़ीदत ) मनाने की अपील की थी । पूरी मुंबई में जौहरियों ने भी ठाकरे की मौत का सोग मनाते हुए कारोबार बंद रखे ।

दरीं असना आँजहानी क़ाइद की अस्थीयाँ शिवसेना के क़ाइदीन और ओहदेदारों को कल सौंप दी जाएंगी ।अस्थियों के कलश रियासत के मुख़्तलिफ़ इलाक़ों में पार्टी के दफ़ातिर पर रखे जाऐंगे ता कि शिव सैनिक अपने आँजहानी क़ाइद को 21 और 22 नवंबर को ख़िराज-ए-अक़ीदत पेश करसके ।

बादअज़ां उनकी अस्थीयाँ मुल्क के मुख़्तलिफ़ इलाक़ों में 23 नवंबर को मुक़द्दस दरयाओ में बहा दी जाएंगी । इन में हरी हरीशवर ,नासिक ,हरी द्वार ,वार नासी और कन्याकुमारी शामिल हैं । बाल ठाकरे ने 1966 से मराठी मांस रोज़नामा जारी करते हुए अपना सयासी कैरियर शुरू किया था । वो क़ब्लअज़ीं परी प्रैस जनरल में मशहूर कार्टूनिस्ट आर के लक्ष्मण के साथ बतौर कार्टूनिस्ट बरसर-ए-कार थे ।

TOPPOPULARRECENT