Sunday , January 21 2018

डर और सन्नाटे के बीच इस बार दादरी में नहीं होगी क़ुर्बानी !

दादरी: ईद-उल-अज़हा के मौक़े पर जहां पूरे देश में हंसी ख़ुशी का माहौल है वहीँ कुछ इलाक़े ऐसे भी हैं जो ख़ुशी से महरूम हैं. उत्तर प्रदेश के दादरी की बात अगर करें तो वहाँ माहौल ख़ुशी का नहीं है वहाँ पर लोगों में एक अजीब सा डर है. लोग त्यौहार मनाने से डर रहे हैं और इसकी वजह है पिछले साल 28 सितम्बर को हुई घटना. “गौ-आतंकियों” द्वारा पिछले साल अखलाक़ नाम के एक शख्स की हत्या कर दी गयी थी.

Facebook पर हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करें

गौ-रक्षा के नाम पर अपनी नफ़रत की राजनीति का कारोबार चलाने वाले लोगों ने एक ख़ुशहाल गाँव को एक डरे हुए गांव में बदल दिया है. आज स्थिति ये है कि गाँव के लोगों से जब इस बारे में बात करने की कोशिश की गयी तो वो इस पर कुछ भी नहीं कहना चाहते वहीँ कुछ मुसलमान लोग जो बात करते भी हैं वो अपना नाम ज़ाहिर नहीं होने देना चाहते, इस क़दर डरे हैं कि कहीं कल को वो शिकार ना बन जाएँ.
गौ-रक्षा के नाम पे आतंक का जो फ़लसफ़ा कुछ कथित नेताओं ने तैयार किया है उससे देश का माहौल सिर्फ़ बिगड़ना है.

TOPPOPULARRECENT