डर की वजह से सच नहीं बोलते वोटर्स जिसके कारण एग्जिट पोल के आंकड़े गलत हो सकते हैं : शशि थरूर

डर की वजह से सच नहीं बोलते वोटर्स जिसके कारण एग्जिट पोल के आंकड़े गलत हो सकते हैं : शशि थरूर

नई दिल्ली : देशभर में रविवार (19 मई) को आखिरी चरण के चुनाव संपन्न होने के बाद तमाम मीडिया हाउस के एग्जिट पोल सामने आए। सभी एग्जिट पोल में एनडीए को बढ़त दिखाई जा रही है। हालांकि, विरोधी दल इन आंकड़ों पर सहमति नहीं जता रहे हैं। उन्होंने एग्जिट पोल को गलत करार दिया है। कांग्रेस नेता शशि थरूर ने भी एग्जिट पोल को गलत बताया। उन्होंने कहा कि डर की वजह से वोटर्स सच नहीं बोलते हैं, जिसके कारण एग्जिट पोल के आंकड़े गलत भी हो सकते हैं। एग्जिट पोल के गलत नतीजों के लिए उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के चुनाव का उदाहरण दिया।

उन्होंने कहा, ​​मेरा मानना ​​है कि सभी एग्जिट पोल गलत होते हैं। पिछले सप्ताह ऑस्ट्रेलिया में अलग-अलग 56 एग्जिट पोल गलत साबित हुए। भारत में बहुत से लोग सर्वे करने वालों को सच बताने से डरते हैं। लोगों को लगता है कि डेवलपर करने वाले सरकार की तरफ से आए हैं। वास्तविक परिणाम के लिए 23 मई का इंतजार है। ”

एग्जिट पोल के अनुसार कांग्रेस ने इस बार प्रियंका गांधी को चुनाव प्रचार में उतारा था, जिसके बाद भी पार्टी का प्रदर्शन खास नहीं आंका जा रहा है।

कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता संजय झा ने भी एग्जिट पोल पर सहमति जाहिर नहीं की है। उन्होंने एग्जिट पोल को हास्यास्पद करार दिया। संजय झा ने कहा कि 23 मई को साइलेंट वेटर ही किंग साबित होंगे। जब मतगणना होगी तब यूपीए का प्रदर्शन एनडीए से बेहतर होगा।

Top Stories