Monday , December 18 2017

डायन बता कर दो लाख का जुर्माना

खूंटी की अखता गांव के रहने वाली बुधनी कच्छप ने ख़वातीन कमीशन को खत लिख कर मदद की गुहार लगायी है। बुधनी ने खत में लिखा है कि गांव के लोग उस पर डायन बिसाही का इल्ज़ाम लगा कर इस्तहसाल कर रहे हैं। उसने कहा है कि गांव जब भी किसी शख्स या जानवर

खूंटी की अखता गांव के रहने वाली बुधनी कच्छप ने ख़वातीन कमीशन को खत लिख कर मदद की गुहार लगायी है। बुधनी ने खत में लिखा है कि गांव के लोग उस पर डायन बिसाही का इल्ज़ाम लगा कर इस्तहसाल कर रहे हैं। उसने कहा है कि गांव जब भी किसी शख्स या जानवर की मौत होती है, तो उसका इल्जाम उस पर लगाया जाता है। मुखालिफत करने पर पंचायत में उसकी पिटाई की जाती है।

पंचायत की तरफ से इक़्तेसादी जुर्माना भी लगाया जाता है। जुर्माने की भरपाई के लिए बुधनी ने अपनी सारी जमीन बंधक रख दी है। गुजिशता 14 अप्रैल को उसके जेठ की बेटी की मौत हो गयी थी।

इसके लिए भी उसे जिम्मेदार ठहराया गया। उसी दिन पंचायत बुला कर ग्राम प्रधान अमृत तिरू ने दो लाख रुपये का जुर्माना लगाया। इसके लिए थोड़ी सी बची जमीन को बंधक रख कर उसने 11 हजार रुपये जुटाय़े। बाक़ी रकम देने के लिए 15 दिनों का वक़्त दिया गया है। पंचायत ने बच्चे समेत गांव छोड़ने का फरमान जारी किया है। पैसे नहीं देने की हालत में जान से मारने की धमकी भी दी जा रही है। बुधनी ने अखता के ग्राम प्रधान अमृत तिरू, गुज्जू पाहन, उसकी बीवी, भाभी, बुधवा पाहन, कोका मुंडा मादी टोप्पो समेत दीगर के खिलाफ इल्ज़ाम लगाया है।

TOPPOPULARRECENT