Monday , December 18 2017

डायरिया और पीलिया का अज़ाब , दर्जनों बीमार

ऊमस भरी गरमी में डायरिया -पीलिया का अज़ाब बढ़ गया है। बीमारी से मुतासीर एक दर्जन से ज़्यादा मरीजों का इलाज़ नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल और गुरु गोविंद सिंह अस्पताल में चल रहा है। साथ ही प्राइवेट क्लिनिक में भी मरीजों की भीड़ जुट रही

ऊमस भरी गरमी में डायरिया -पीलिया का अज़ाब बढ़ गया है। बीमारी से मुतासीर एक दर्जन से ज़्यादा मरीजों का इलाज़ नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल और गुरु गोविंद सिंह अस्पताल में चल रहा है। साथ ही प्राइवेट क्लिनिक में भी मरीजों की भीड़ जुट रही है। हालत यह है कि अस्पताल में बीमारी से मुतासीर मरीजों के लिए काफी दवा की सहूलत नहीं मिल पा रही है।

गुरु गोविंद सिंह अस्पताल में भी बीमारी से मुतासीर दस मरीजों को भरती किया गया। इसमें महताबी देवी, अभिषेक, सुन्नी, फुलमतिया देवी, शिया कुमार, सोनू, शानू देवी, विलोक देवी, रामवृक्ष प्रसाद व नौशाद शामिल हैं। इसी तरह से नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में दो दिनों के अंदर बीमारी से मुतासीर आधा दर्जन मरीजों को इमरजेंसी महकमा में भरती कराया गया।

प्राइवेट क्लिनिक में भी मुसलसल मरीज आ रहे हैं। इधर, आलूदा पीने के पानी की वजह से भी लोग डायरिया, पीलिया और दीगर बीमारियों से मुतासीर हो रहे हैं। डिवीजन के कई मुहल्लों में पीने के पानी का बोहरान कायम रहने की वजह से लोग कुएं व चापकल का पानी पीने को मजबूर हैं। यह पानी साफ नहीं होता है, इसकी वजह लोग बीमार पड़ रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT