Wednesday , February 21 2018

डालमिया केस में जगन और सबीता इंदिरा रेड्डी की अदालत में हाज़िरी

हैदराबाद 08 जून: वाई एस आर कांग्रेस की एज़ाज़ी सदर वजया अम्मां और जगन मोहन रेड्डी की शरीक-ए-हयात भारती ने पुलिस के रवैय्ये को जमहूरीयत के मुग़ाइर क़रार दिया।

हैदराबाद 08 जून: वाई एस आर कांग्रेस की एज़ाज़ी सदर वजया अम्मां और जगन मोहन रेड्डी की शरीक-ए-हयात भारती ने पुलिस के रवैय्ये को जमहूरीयत के मुग़ाइर क़रार दिया।

आज नामपली अदालत में कई ड्रामाई मुनाज़िर देखे गए। छः माह के बाद पुलिस ने जगन को अदालत के रूबरू पेश किया, जबकि क़ब्लअज़ीं माह दिसंबर उन्हें पेश किया गया था।

डालमिया मुक़द्दमा में आज जगन मोहन रेड्डी और सबीता इंदिरा रेड्डी अदालत से रुजू हुए। पुलिस ने अहाते अदालत में बड़े पैमाने पर एहतियाती इक़दामात किए थे।

जगन की वालिदा और बिवि के अलावा अरकान ख़ानदान को अदालत में दाख़िल होने से पुलिस ने रोक दिया, जिस पर थोड़ी देर के लिए कशीदगी पैदा हो गई।

वाई एस आर कांग्रेस क़ाइद वजया रेड्डी ने अपने हामीयों के साथ एहतिजाज किया, जिन्हें पुलिस ने गिरफ़्तार करलिया। पुलिस के रवैय्ये पर वजया अम्मां ने सख़्त एतराज़ किया और अरकान ख़ानदान को जगन की मुलाक़ात से रोकने की सख़्त मज़म्मत करते हुए कहा कि क्या हम जमहूरी मुल्क के शहरी नहीं?, क्या पुलिस का हद से ज़्यादा सख़्ती से पेश आना ज़रूरी है?। जगन की बिवि भारती ने अदालत में दाख़िल होने से रोकने पर सख़्त एतराज़ करते हुए कहा कि पुलिस ग़ैर ज़रूरी रुकावटें पैदा कर रही है, यहां तक कि अरकान ख़ानदान को भी अदालत में दाख़िल होने से रोका जा रहा है।

उन्होंने कहा कि रियासत में जमहूरी हुकूमत नहीं है, बल्के शैतान की हुक्मरानी चल रही है। जब हमारे साथ पुलिस का ये तर्ज़ ए अमल है तो आम लोगों के साथ पुलिस का रवैय्या कैसा होगा?।

वाज़िह रहे कि जगन मोहन रेड्डी के वुकला की दरख़ास्त पर जज ने एक घंटे के लिए अहाता ए अदालत में अरकान ख़ानदान से मुलाक़ात की जगन को इजाज़त दी थी।

इस दौरान वजया अम्मां जगन से बग़लगीर होकर अपने जज़बात पर क़ाबू ना रख सकीं, जबकि जगन ने उन्हें दिलासा दिया कि बहुत जल्द सब कुछ ठीक हो जाएगा।

साबिक़ वज़ीर-ए-दाख़िला सबीता इंदिरा रेड्डी भी आज अदालत में हाज़िर हुईं। उनके घर पर बड़े पैमाने पर उनके हामी पहुंच गए और उनकी ताईद में नारे लगाकर उनके बेक़सूर होने का दवा कर रहे थे।

अदालत में जगन मोहन रेड्डी ने साबिक़ रियास्ती वज़ीर-ए-दाख़िला को मुस्कुराते हुए नमस्ते किया, थोड़ी देर ख़ामोश रहने के बाद सबीता इंदिरा रेड्डी ने इस का जवाब दिया, ताहम जैसे ही सी बी आई ने सबीता इंदिरा रेड्डी को उसकी तहवील में देने की अदालत से ख़ाहिश की, सबीता इंदिरा रेड्डी की आँखों से आँसू निकल पड़े।

वाज़िह रहे कि सदर वाई एस आर कांग्रेस हश्शाश बश्शाश नज़र आरहे थे, उन्होंने मामूल के मुताबिक़ मीडीया और दुसरेँ को मुस्कुराते हुए दोनों हाथ जोड़कर नमस्ते किया।

बादअज़ां पुलिस ने उन्हें बुलेटप्रूफ गाड़ी के ज़रीये जेल मुंतक़िल कर दिया। इसी दौरान चंद वुकला ने अदालत के रूबरू एहतिजाज करते हुए कांग्रेस के रुकन राज्य सभा डक्टर के वि पी राम चन्द्र राव‌ की गिरफ़्तारी का मुतालिबा किया और डक्टर राज शेखर रेड्डी के दौर-ए-हकूमत में जो भी फ़ैसले हुए हैं, इन में राम चन्द्र राव‌ के अहम रोल का इल्ज़ाम आइद किया।

TOPPOPULARRECENT