Tuesday , December 12 2017

डीटीओ के बेटे को पुलिस ने सरेआम पीटा

मशरिकी सिंहभूम के साबिक़ और मौजूदा में गढ़वा के डीटीओ पी.

मशरिकी सिंहभूम के साबिक़ और मौजूदा में गढ़वा के डीटीओ पी. बारला के बेटे लियोन बारला को जुमा दोपहर टाइगर मोबाइल के सिपाही अवनीश कुमार ने बेरहमी से पीटा। उसके हाथ और पैर में संगीन चोट लगी है। लियोन संत मेरीज स्कूल के दसवीं क्लास का तालिबे इल्म है और यहां बिष्टूपुर वाकेय बीएस अपार्टमेंट में अपनी वालिदा के साथ ही रहता है।

लियोन ने बताया कि वह अपने दोस्त पवन कुमार के साथ बौद्ध मंदिर के सामने वाले मैदान में क्रिकेट खेलने जा रहा था। वहीं उसके दीगर साथी भी आने वाले थे। अचानक उनके सामने मोटरसाइकिल पर एक सिपाही आया और बिना कोई वजह पूछे उसे गाली देने लगा। उसने जब बेवजह गाली देने का वजह पूछा तो उसने मोटरसाइकिल से डंडा निकाला और उसकी बेरहमी से पिटाई कर दी। लियोन ने बताया कि वह डिप्टी कलेक्टर पी. बारला का बेटा है। इस पर सिपाही ने उसे जाति मतलब का लफ्ज कहकर बेइज़्ज़त किया और उसके वालिदैन को मारने की धमकी दी।

नमाज पढ़कर लौट रहे लोगों ने बचाया

कुछ नौजवान मस्जिद से नमाज पढ़कर लौट रहे थे। लियोन को पिटता देख वे उसे बचाने दौड़ पड़े। लियोन ने फोन से इस वाकिया की इत्तिला अपनी वालिदा को दी। वालिदा उस वक्त सर्किट हाउस एरिया वाकेय नए घर में एसी की फिटिंग करा रही थीं। वे सारा काम छोड़कर अपने बेटे के पास आईं। वे बेटे को लेकर शिकायत करने साकची थाने पहुंचीं।

वाकिया की इत्तिला ज्यों ही गढ़वा में मुकर्रिर डीटीओ पी. बारला को मिली, उन्होंने साकची थाने को इसकी जानकारी दी। टाइगर मोबाइल के सिपाही अवनीश कुमार को साकची थाने में बुलाया गया। इसी दरमियान लियोन अपनी वालिदा के साथ भी थाने पहुंचा। थाना में तालिबे इल्म सिपाही पर बरस पड़ा। उसने थाना इंचार्ज को बताया कि उसे बेइज़्ज़त करने के लिए सिपाही ने क्या-क्या लफ्ज कहे। इसके बाद जख्मी लियोन की डॉक्टरी रिपोर्ट काटकर उसे इलाज के लिए एमजीएम अस्पताल भेजा गया।

TOPPOPULARRECENT