Sunday , December 17 2017

डी एस पी की हलाकत का तनाज़ा ,राजा भया यू पी काबीना से मुस्ताफ़ी

नई दिल्ली / लखनऊ 4 मार्च ( पी टी आई )उत्तरप्रदेश के मुतनाज़ा वज़ीर रग्घू राज परताब सिंह उर्फ़ राजा भया रियास्ती काबीना से मुस्ताफ़ी होगए ज़िला परताब गढ़ में एक डी एस पी की हलाकत का तनाज़ा इस का पस-ए-मंज़र है । समाजवादी पार्टी के सरबराह मु

नई दिल्ली / लखनऊ 4 मार्च ( पी टी आई )उत्तरप्रदेश के मुतनाज़ा वज़ीर रग्घू राज परताब सिंह उर्फ़ राजा भया रियास्ती काबीना से मुस्ताफ़ी होगए ज़िला परताब गढ़ में एक डी एस पी की हलाकत का तनाज़ा इस का पस-ए-मंज़र है । समाजवादी पार्टी के सरबराह मुलाइम सिंह यादव ने ऐवान पार्लीमेंट के बाहर प्रैस कान्फ़्रैंस से ख़िताब करते हुए कहा कि राजा भया का इस्तीफ़ा होगया है ।

राजा भया ने लखनऊ चीफ़ मिनिस्टर यू पी अखिलेश यादव से मुलाक़ात करके अपना इस्तीफ़ा पेश कर दिया । सरकारी ज़राए के बमूजब गवर्नर बी एल जोशी ने इन का इस्तीफ़ा मंज़ूर करलिया है । यू पी असेम्ब‌ली का इजलास आज सुबह डी एस पी की हलाकत के बारे में शोर विगल के बाद 30 मिनट केलिए मुल्तवी कर दिया गया । डी एस पी ज़िया उल-हक़ को परताब गढ़ में हफ़्ते के दिन एक हुजूम ने हलाक कर दिया था जबकि वो वहां ग्राम प्रधान को एक अराज़ी तनाज़े में गोली मार कर हलाक करदेने के वाक़िये की तहक़ीक़ात केलिए पहुंचे थे ।

मक़्तूल डी एस पी की अहलिया ने इस हमले का ज़िम्मेदार राजा भया को क़रार दिया था । पुलिस में शिकायत दर्ज करवाते हुए डी एस पी की बीवी प्रवीण आज़ाद ने कहा कि राजा भया , नगर पंचायत के सदर नशीन गुलशन यादव , रियास्ती वज़ीर के नुमाइंदे हरी ओम सरयू अस्तिव और उन के ड्राईवर रोहित सिंह ने गुड्डू सिंह की ताईद-ओ-हिमायत की जो मेरे शौहर पर लाठियों और सलाखों से हमला करने के बाद उसे गोली से मार कर हलाक करदेने का अव्वलीन मुल्ज़िम है ।

इस ने कुंडा पुलिस स्टेशन में फ़ौजदारी मुक़द्दमा दर्ज करवाया है जहां इस का शौहर तायनात था । बी एस पी की सरबराह मायावती के यू पी में सदर राज के नफ़ाज़ के मुतालिबा के बारे में सवाल का जवाब देते हुए सदर समाजवादी पार्टी मुलाइम सिंह यादव ने कहा कि ये ग़ैर ज़रूरी है ।ये केतली के बगोने को स्याह क़रार देने के मुतरादिफ़ वाक़िया है ।मायावती क़ब्लअज़ीं एक प्रैस कान्फ़्रैंस में कह चुकी हैं कि यू पी में गुंडा राज है और मर्कज़ को रियासत में सदर राज नाफ़िज़ करना चाहीए ।

उन्होंने कहा कि जबकि एक पुलिस ओहदेदार महफ़ूज़ नहीं है तो आम आदमी की हालत के बारे में अंदाज़ा लगाया जा सकता है ।रियास्ती वज़ीर अग़्ज़िया-ओ-सियोल स्पलाईज़ राजा भया ने कल पी टी आई से कहा था कि कोई भी शख़्स को ज़हनी सदमा का शिकार हो ,गुमराह किया जा सकता है । ये एक बद बख्ता ना वाक़िया हैं कि बदनाम करने के मक़सद से इल्ज़ामात आइद किए जा रहे हैं । उन्होंने कहा कि तहक़ीक़ात में सच्चाई ग़ालिब आएगी ।

ज़िया उल-हक़ क़स्बा कुंडा के सर्कल ऑफीसर की हैसियत से तायनात किए गए थे वो ग्राम प्रधान के हफ़्ते के दिन क़तल की इत्तिला मिलने पर बाली पर देहात रवाना होगए थे । ग्राम प्रधान नन्हे यादव को नामालूम अफ़राद ने एक दिन क़बल देहात में गोली मार कर हलाक कर दिया था जब पुलिस ओहदेदार कुंडा के मुज़ाफ़ात में वाक़्य देहात पहुंचे तो उन पर चंद अफ़राद ने हमला कर दिया , ज़िया उल-हक़ और ग्राम प्रधान के भाई सुरेश हमले में शदीद ज़ख़मी हुए और बादअज़ां हॉस्पिटल में ज़ख़मों से जांबर ना होसके ।रग्घू राज परताब सिंह उर्फ़ राजा भया एक बदनाम-ए-ज़माना रूडी शीटर है ।इंतिख़ाबात के वक़्त बी एस पी दौर-ए-हकूमत में वो क़तल के एक इल्ज़ाम के सिलसिले में अदालती तहवील में थे ।

TOPPOPULARRECENT