डॉ. अम्बेडकर के नाम पर वोटें भुनाने में जुटी सपा

डॉ. अम्बेडकर के नाम पर वोटें भुनाने में जुटी सपा
नई दिल्ली: सपा सुप्रीमों मुलायम सिंह यादव ने दलितों के वोट हथियाने की कोशिश में दलितों को सपा से जोड़ने का दांव चला है। उनका कहना है कि डॉ.भीमराव अम्बेडकर को समाजवादियों ने ही सबसे पहले और सबसे ज्यादा सम्मान दिया है लेकिन यह हमारे लिए बहुत दुःख की बात है कि उनको एक जाति का नेता बताया जाता है।
सोमवार को सपा कार्यालय में एक समारोह में मुलायम सिंह ने कहा कि डॉ. अम्बेडकर को एक जाति तक सीमित करने वाले लोगों को उनका बचपन, जीवन संघर्ष और दर्शन पढ़ने की जरूरत है। जब स्कूलों में दाखिला मुश्किल था। छुआछूत चरम पर थी, तब डॉ. अम्बेडकर ने उच्च शिक्षा हासिल की, उनकी काबिलियत का हर तबके के लोगों ने सम्मान किया, इसमें समाजवादी पार्टी पहले नंबर पर थी। एक सम्मेलन का हवाला देते हुए मुलायम ने कहा कि अम्बेडकर को सम्मान देने वालों में जवाहर लाल नेहरू भी थे।
Top Stories