Monday , December 11 2017

डॉ आंबेडकर ने कहा था सिर्फ़ पागल ही यूनिफार्म सिविल कोड लागू करने की बात कर सकते हैं

हैदराबाद: मुस्लिम समाज की बात को आगे रखते हुए यहाँ मौलानाओं ने यूनिफार्म सिविल कोड की मुखालिफ़त की. खिलवत मैदान में सीरत उन नबी द्वारा बुलाई गयी इस मीटिंग में भारी संख्या में लोगों ने शिरकत की.

पूर्व राज्यसभा सांसद ओबैदुल्लाह ख़ान आज़मी ने यूनिफार्म सिविल कोड के मुद्दे पर आरएसएस को घेरते हुए कहा कि अँगरेज़ चले गए लेकिन आरएसएस छोड़ गए. उन्होंने कहा कि मुसलमानों को केंद्र की भाजपा सरकार से कम ही उम्मीद करना चाहिए जिसमें नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में घर वापसी और लव जिहाद जैसे मुद्दे माहौल ख़राब कर रहे हैं.

आज़मी ने डॉ भीम राव आंबेडकर का ज़िक्र करते हुए कहा कि यूनिफार्म सिविल कोड की बात करने वाले सिर्फ़ पागल ही माने जा सकते हैं. संविधान के अनुसार किसी के धर्म में दख़ल देना ग़लत है.

इस मौक़े पर कई बड़े मुस्लिम नेता मौजूद थे जिसमें AP वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सैयद अली अकबर निजामुद्दीन हुसैनी, शिया धर्म गुरु रज़ा आग़ा के नाम शामिल हैं.

TOPPOPULARRECENT