Wednesday , December 13 2017

डॉ इस्लाम ‘इम्तियाज-ए-जामिया’ सम्मान से सम्मानित

नई दिल्ली। भारतीय मूल के अमेरिकी शिक्षाविद एवं समाजसेवी डॉ फ्रैंक ऍफ इस्लाम को इम्तियाज ए जामिया सम्मान से विभूषित किया गया जबकि सैय्यद अली रिजवी को शिक्षा का ग्लोबल एम्बेसडर बनाया गया है। जामिया मिलिया इस्लामिया ने भारतीय मूल के अमेरिकी उद्यमी और शिक्षाविद फ्रैंक इस्लाम को अपने शीर्ष पुरस्कार ‘इम्तियाज ए जामिया’ से नवाजा है।

अमेरिका के ही एक अन्य उद्यमी एवं शिक्षाविद सईद अली रिजवी को ‘ग्लोबल एंबेसडर ऑफ एजुकेशन’ से पुरस्कृत किया गया। ये दोनों भारतीय मूल के अमेरिकी उद्यमी हैं जो अमेरिका के साथ ही भारत में भी शिक्षा के प्रसार में काफी सहयोग करते हैं। सोमवार को जामिया के सभागार में आयोजित कार्यक्रम के दौरान फ्रैंक इस्लाम ने कहा कि वह धन देकर उपकार नहीं, बल्कि शिक्षा को प्रोत्साहित करते हैं। विभिन्न आस्थाओं के बीच समन्वय पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि अंतर आस्था लोगों के बीच पुल बनाती है। लोगों को करीब लाकर देश और समुदायों को मजबूत बनाती है।

इस अवसर पर सईद अली रिजवी ने छात्रों को जानकारी दी कि वह और उनके कुछ सहयोगी अमेरिका में ‘सर सैयद अहमद इमर¨जग स्कॉलर एवा‌र्ड्स ‘ चला रहे हैं। इसके तहत अमेरिका में पढ़ाई की इच्छा रखने वाले भारतीय छात्रों के लिए छात्रवृत्ति का इंतजाम किया जाता है। उन्होंने कहा कि जेएमआइ छात्र इसका लाभ उठा सकते हैं।

इस कार्यक्रम के तहत 600 सर्टिफिकेट कोर्स की फीस में उनकी संस्था सहयोग करती हैं। इस अवसर पर जामिया के कुलपति प्रो. तलत अहमद ने कहा कि जामिया और अलीगढ़ मुस्लिम युनिवर्सिटी अगर नहीं होते तो बहुत से लोग आज उन मुकाम पर नहीं होते जिन पर वे देखे जाते हैं। इन दोनों शिक्षण संस्थानों का शिक्षा के क्षेत्र में खासकर अल्पसंख्यकों को शिक्षित करने में बहुत बड़ा योगदान रहा है।

प्रो. अहमद ने कहा कि मुल्क और कौम को आगे बढ़ने के लिए नवोन्मेषी शिक्षा की तरफ बढ़ने की आवश्यकता है। जामिया के रजिस्ट्रार एपी सिद्दीकी ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान करने वाले दो विशिष्ट लोगों को सम्मानित करते हुए जामिया को खुशी हो रही है। डीन, छात्र कल्याण श्रीमती तसनीम मिनाई ने धन्यवाद भाषण में इस बड़े आयोजन में सहयोग करने वाले जेएमआई के सभी लोगों का धन्यवाद किया।

TOPPOPULARRECENT