डॉ कफील को केरल जाने से सरकार ने रोका, निपाह वायरस पीड़ितों का करना चाहते थे इलाज़

डॉ कफील को केरल जाने से सरकार ने रोका, निपाह वायरस पीड़ितों का करना चाहते थे इलाज़
Click for full image

गोरखपुर: गोरखपुर के BRD मेडिकल कॉलेज हादसे के बाद चर्चा में आए डॉ कफील खान केरल में वायरस से पीड़ित मरीजों का इलाज करने के इरादों पर केरल सरकार ने फ़िलहाल रोक लगा दी है .  वही केरल  सरकार के इस फैसले पर डॉ कफील ने अफ़सोस जताया है. मीडिया से बातचीत में डॉ कफील ने बताया मुझे केरल सरकार ने अपनी यात्रा रद्द करने के लिए कहा है. मै अह्स्हाय हूँ और ऐसे मुश्किल वक़्त में अपनी सेवाएँ नहीं दे पा रहा हूँ. मुझे नहीं पता की इस इस तरह के फैसले लेने के लिए किसने उकसाया है.

फिलहाल, डॉ कफील खान जमानत पर बाहर है. बता दें की उन्होंने केरल के मुख्यमंत्री पी. विजयन से अनुरोध किया  था कि उन्हें निपाह वायरस के पीड़ितों के ईलाज का मौका मिले.

डॉ कफील के पोस्ट के बाद करेल के मुख्यमंत्री पी. विजयन ने भी ट्वीट किया कि राज्य सरकार को बहुत खुशी होगी, अगर डॉक्टर कफील खान यहां आकर हमारी मदद करें. मुख्यमंत्री मुख्यालय से ट्वीट किया गया कि कई डॉक्टरों ने निपाह वायरस से प्रभावित क्षेत्रों में काम करने में रुचि दिखाई है.

केरल सरकार उन सभी डॉक्टरों और प्रोफेशनल्स का स्वागत करती है. जो लोग इस दिशा में काम करना चाहते हैं वे हेल्थ डिपार्टमेंट के डायरेक्टर से संपर्क करें या कोझिकोड गर्वनमेंट मेडिकल कॉलेज के सुपरीटेंडेंट से संपर्क करें. लेकिन अब केरल सरकार के इस रोक लगाने के फैसले के बाद डॉ कफील ने नाराजगी जाहिर की है

 

Top Stories