Monday , December 11 2017

डॉ जाकिर नाइक के खिलाफ कार्रवाई में बेहद एहतियात बरते सरकार- मुस्लिम उलेमा

हैदराबाद: मुस्लिम विद्वानों और धर्मगुरुओं ने राय जाहिर की है कि सरकार को धर्म प्रचारक जाकिर नाइक के खिलाफ कार्रवाई के मुद्दे पर बेहद सावधानी और एहतियात से कदम उठाने चाहिये। देश के प्रमुख इस्लामी शिक्षण संस्थानों में शुमार नदवतुल उलमा के प्रवक्ता मौलाना सैयद हमजा नदवी ने कहा कि वैसे तो समाज को कट्टरपंथ को बढ़ावा देने वाली किसी भी चीज के खिलाफ एकजुट हो जाना चाहिये, लेकिन जिस तरह से जाकिर नाइक को किसी जांच का नतीजा आये बगैर घेरने की कोशिश की जा रही है, वह अच्छी बात नहीं है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उन्होंने कहा ‘‘कुछ मामलों को लेकर हमारे उनसे मतभेद हो सकते हैं, लेकिन अभी इस बात के सुबूत नहीं मिले हैं कि उनके भाषणों में नफरत का कोई तत्व मौजूद था।’’ पैगाम-ए-इंसानियत कमेटी के महासचिव मौलाना सैयद बिलाल हसनी ने कहा ‘‘अहले हदीस विचारधारा की शिक्षा के कुछ तत्वों को लेकर हमारा रवैया हमेशा से परहेज भरा रहा है। हालांकि इस विचारधारा के मानने वालों को अपनी शिक्षा का प्रसार करने का पूरा हक है। मगर हमारा मानना है कि अपनी विचारधारा को साबित करने के लिये दूसरी विचारधाराओं को गलत ठहराना सही नहीं है।’’

हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि समुचित जांच किये बगैर जाकिर नाइक को गलत ठहराने की कोशिश बिल्कुल भी सही नहीं है और सरकार को इस मामले में बेहद सावधानी और एहतियात से काम लेना चाहिये।

TOPPOPULARRECENT