डॉ जाकिर नाइक के बहाने अब AMU को भी घेरने की तैयारी में भाजपा

डॉ जाकिर नाइक के बहाने अब AMU को भी घेरने की तैयारी में भाजपा
Click for full image

नई दिल्ली: डॉ जाकिर नाइक के बहाने अब भारत के प्रसिद्ध शैक्षिक संस्थान अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय को भी घेरने की तैयारी की जा रही है और एएमयू के अल्पसंख्यक दर्जे का विरोध करने वाली भाजपा विश्वविद्यालय में हमलावर हो गई है।

गौरतलब है कि विश्वविद्यालय कोर्ट में डॉक्टर ज़ाकिर नायक जून 2013 से 11 जून 2016 तक सदस्य थे। हालांकि उन्होंने इस दौरान विश्वविद्यालय की किसी भी बैठक में शिरकत नहीं की। परिषद में 15 लोगों की होती है, जो विश्वविद्यालय से जुड़े महत्वपूर्ण निर्णय करती है। डॉ नाइक के एएमयू कोर्ट के सदस्य रहने को लेकर भाजपा अब विश्वविद्यालय पर निशाना साधने लगी है। अलीगढ़ से बीजेपी के सांसद सतीश गौतम का कहना है कि वह इस मामले को संसद में उठाएंगे। गौतम ने मौजूद ह कुलपति पर भी कई गंभीर आरोप लगाए। गौतम ने कहा कि एएमयू के बच्चों की शिक्षा के लिए केंद्र से पैसा आता है, लेकिन जब से यह कुलपति आए हैं एएमयू में गोलमाल हो रहा है।
इस बीच विश्वविद्यालय प्रशासन ने सभी आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है। विश्वविद्यालय का कहना है कि तीन साल पहले डॉ नाइक के नाम का प्रस्ताव किसी सदस्य ने पेश की थी और ज्यादातर लोगों ने इसका समर्थन किया था, जिसके बाद वह इस परिषद के सदस्य बनाए गए। हालांकि तीन साल के दौरान न तो वे कभी विश्वविद्यालय पहुंचे, न ही उन्होंने किसी बैठक में भाग लिया।
उल्लेखनीय है कि एएमयू की इस परिषद में दिलीप कुमार, फारूक शेख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा जैसे लोग रह चुके हैं।

Top Stories