Wednesday , January 17 2018

डॉ जाकिर नाइक ने कट्टरपंथी भाषणों से विभिन्न धर्मों के बीच घृणा फैलाने का काम किया- NIA

डॉ जाकिर नाइक को आतंकी संदिग्‍ध बताते हुए राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने इंटरपोल को बताया कि नाइक ने न केवल मुस्लिम युवाओं को अपने भड़काऊ भाषणों के जरिए उकसाया बल्‍कि कट्टरपंथी भाषणों से विभिन्‍न धर्मों के बीच घृणा फैलाने का भी काम किया।

जाकिर नाइक के पत्र पर प्रतिक्रिया देते हुए गत माह एनआइए ने इंटरपोल को सूचित किया कि भारतीय कानून का उल्‍लंघन करने वाले नाइक के खिलाफ गहन सबूत हैं और उसपर आतंकी फंडिग के लिए जांच की जा रही है।

एनआइए ने इंटरपोल को लिखा, ‘अपने भाषणों से मुस्‍लिम युवाओं के बीच कट्टरपंथी विचारधारा उपजाने वाला नाइक ने कई समन और वारंट के बावजूद हमारे समक्ष पेश नहीं हुआ और उसका पासपोर्ट मुंबई में क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय द्वारा रद्द कर दिया गया है।‘

बता दें कि एनआईए ने इंटरपोल से नाइक को रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने को कहा था। जिसके बाद आतंकवाद को बढ़ावा देने और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आरोपी जाकिर नाइक ने राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) पर मुस्लिम होने के कारण परेशान करने का आरोप लगाया था।

TOPPOPULARRECENT