Thursday , December 14 2017

ड्रिल मशीन अब हाथों से नहीं मुंह से चलाईए

दीवार में कील ठोकना हो तो ड्रिल मशीन हाथों में ही थामनी होती है लेकिन अब ऐसी कोई ज़रूरत नहीं रही।प्लंबिंग टूल बना ने वाली एक कंपनी ने ऐसी ड्रिल मशीन तैय्यार कर ली है जिसे हाथों के बजाय मुंह से चलाया जाता है ।

दीवार में कील ठोकना हो तो ड्रिल मशीन हाथों में ही थामनी होती है लेकिन अब ऐसी कोई ज़रूरत नहीं रही।प्लंबिंग टूल बना ने वाली एक कंपनी ने ऐसी ड्रिल मशीन तैय्यार कर ली है जिसे हाथों के बजाय मुंह से चलाया जाता है ।

इस ख़ुसूसी ड्रिल कट के मख़सूस आलात को दाँतों में फिट करने और सर पर पहने के बाद जबड़ों की हरकत से दीवार में सूराख़ कर के कील ठोकी जा सकती है।

TOPPOPULARRECENT