Tuesday , December 12 2017

ड्रोन हमले कामयाब होँ या नाकाम हमारी सालमीयत पर हमला हैं

वज़ीर-ए-आज़म पाकिस्तान यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने कहा कि ड्रोन हमले कामयाब होँ या नाकाम ,इन हमलों को वो अपनी ख़ुद मुख़तारी और सालमीयत पर हमला समझते हैं। एक ऑस्ट्रेलवी चैनल से इंटरव्यू में वज़ीर-ए-आज़म गिलानी ने कहा कि पाकिस्तान अफ़्ग

वज़ीर-ए-आज़म पाकिस्तान यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने कहा कि ड्रोन हमले कामयाब होँ या नाकाम ,इन हमलों को वो अपनी ख़ुद मुख़तारी और सालमीयत पर हमला समझते हैं। एक ऑस्ट्रेलवी चैनल से इंटरव्यू में वज़ीर-ए-आज़म गिलानी ने कहा कि पाकिस्तान अफ़्ग़ान मसला के हल का हिस्सा है,अगर वहां इस्तिहकाम होगा तो पाकिस्तान में भी होगा।

वज़ीर-ए-आज़म ने कहा कि हम मसाइल का हिस्सा नहीं हैं ,मसाइल की वजह से दोनों ममालिक को मुश्किलात से गुज़रना पड़ा,दुनिया को ये समझना चाहीए।उन्हों ने कहा कि अफ़्ग़ानिस्तान की तरक़्क़ी के लिए सियासी मुफ़ाहमत वाहिद रास्ता है,फ़ौजी हल कोई हल नहीं।

उन्हों ने कहा कि हम को काबिल-ए-भरोसा, बरवक़्त काबिल-ए-अमल इंटेलिजेंस मालूमात दी जानी चाहें, पाकिस्तान इस के मुताबिक़ कार्रवाई करेगा,लिहाज़ा ड्रोन हमलों की कोई ज़रूरत नहीं है ।

उन्हों ने कहा कि अवाम की हिमायत के बगै़र जंग कभी नहीं जीती जा सकती। अमरीका एक अहम मुलक है ,हम इस के साथ अपने ताल्लुक़ात बेहतर करना चाहते हैं ।

TOPPOPULARRECENT