Wednesday , December 13 2017

तंज़ीम जदीद बिल की तैयारी और मंज़ूरी में के सी आर का अहम रोल

आंध्र प्रदेश के वुज़रा ने तेलंगाना के चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ को आंध्र प्रदेश तंज़ीम जदीद बिल की मुख़ालिफ़त किए जाने पर अपनी सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाया और कहा कि उनकी हुकूमत (आंध्र प्रदेश) तेलुगु अवाम के वसीअ तर मुफ़ाद के तह

आंध्र प्रदेश के वुज़रा ने तेलंगाना के चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ को आंध्र प्रदेश तंज़ीम जदीद बिल की मुख़ालिफ़त किए जाने पर अपनी सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाया और कहा कि उनकी हुकूमत (आंध्र प्रदेश) तेलुगु अवाम के वसीअ तर मुफ़ाद के तहत तमाम हस्सास मसाइल पर के सी आर की हुकूमत के साथ बातचीत करते हुए ख़ुशगवार-ओ-दोस्ताना हल तलाश करने के लिए तैयार है।

आंध्र प्रदेश के वुज़रा वाई राम कृष्णुडू गंटा श्रीनिवास राव‌ ने यहां एक प्रेस कांफ्रेंस से ख़िताब करते हुए कहा कि आप ( के सी आर) आंध्र प्रदेश तंज़ीम जदीद बिल 2014 का उसकी मुसव्वदा साज़ी के वक़्त से एक अहम हिस्सा रहे हैं।

माज़ी में यू पी ए हुकूमत की टाऱाफ से ( इस साल फेब में) पार्लियामेंट में इस बिल की (ज़बरदस्ती) मंज़ूरी के वक़्त भी आप ( के सी आर) ही इस कोशिश का एक हिस्सा थे।

इस क़ानूनसाज़ी के लिए टी आर एस ने कांग्रेस के साथ साज़ बाज़ किया था और आप ( के सी आर) ही हैं जो अब इस क़ानून की मुख़्तलिफ़ दफ़आत की मुख़ालिफ़त करते हुए ग़ैर ज़रूरी तनाज़आत पैदा कररहे हैं।

इन वुज़रा ने कहा कि आंध्र प्रदेश की रियासती काबीना के मीटिंग में इस मसले पर तफ़सीली ग़ौर-ओ‍ख़ौज़ किया गया और ये महसूस किया गया कि हुकूमत तेलंगाना ग़ैर ज़रूरी तौर पर जारिहाना तीव्र अपना रही है जबकि हुकूमत आंध्र प्रदेश बदस्तूर दिफ़ाई मौक़िफ़ इख़तियार की हुई है।

TOPPOPULARRECENT