Friday , December 15 2017

तक़रीर यू टयूब से हटाने की दरख़ास्त हाईकोर्ट में मुस्तरद

हैदराबाद।10 जनवरी: आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट ने मजलिसी रुकन असेंबली अकबरुद्दीन ओवैसी की नफ़रतअंगेज़ तक़रीर को यू टयूब से हज़फ़ करने की दरख़ास्त आज मुस्तरद कर दी।

हैदराबाद।10 जनवरी: आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट ने मजलिसी रुकन असेंबली अकबरुद्दीन ओवैसी की नफ़रतअंगेज़ तक़रीर को यू टयूब से हज़फ़ करने की दरख़ास्त आज मुस्तरद कर दी।

वकील विजय‌ वी एन रामा राव‌ ने अदालत से रुजू होते हुए ये मुतनाज़ा तक़रीर यू टयूब से निकाल देने का हुक्म देने की ख़ाहिश की थी। जस्टिस संजय‌ कुमार और जस्टिस एल नरसिम्हा रेड्डी पर मुश्तमिल हाईकोर्ट बेंच ने वाज़िह किया कि अदालत दूसरों की इज़हार-ए-ख़्याल की आज़ादी में मदाख़िलत नहीं करेगी।

इस के साथ साथ अदालत ने ये भी वाज़िह किया कि दरख़ास्त गुज़ार यू टयूब दफ़्तर वाक़्य न्यूयार्क से रास्त रुजू होसकता है। बंच का ये एहसास था कि अकबर उद्दीन उवैसी की तक़रीर सन कर बाअज़ लोग ख़ुश होसकते हैं और वहीं बाअज़ लोग इस तरह के हस्सास मसले पर ब्रहम भी होसकते हैं ताहम बंच ने कहा कि ये सारा मुआमला इज़हार-ए-ख़्याल की आज़ादी के तहत आता है।

बंच ने दरख़ास्त गुज़ार से इस्तिफ़सार किया कि आख़िर इस तरह की तक़ारीर को नशर करने में क्या क़बाहत है। बंच ने वाज़िह किया कि वो एसे मरहले पर मुदाख़िलत नहीं करेगी और ये दरख़ास्त मुस्तर्द करदी।

TOPPOPULARRECENT