Saturday , December 16 2017

तक़सीम रियासत के फैसला से दस्तबरदारी नामुमकिन

: तेलंगाना की नुमाइंदगी करने वाले कांग्रेस के अरकाने पार्लीयामेंट पूनम प्रभाकर और जी सुखेन्द्र रेड्डी ने सीमा - आंध्र के क़ाइदीन से इस्तिफ़सार किया कि वो अपनी अपनी शरीके हयात से दरयाफ़्त करें कि दोनों के दरमियान बाहमी इत्तिहाद

: तेलंगाना की नुमाइंदगी करने वाले कांग्रेस के अरकाने पार्लीयामेंट पूनम प्रभाकर और जी सुखेन्द्र रेड्डी ने सीमा – आंध्र के क़ाइदीन से इस्तिफ़सार किया कि वो अपनी अपनी शरीके हयात से दरयाफ़्त करें कि दोनों के दरमियान बाहमी इत्तिहाद के बगैर क्या ज़िंदगी गुज़ारना आसान है ? ज़बरदस्ती एक दूसरे के साथ संसार कर सकते हैं ?

तेलंगाना की नुमाइंदगी करने वाले दोनों अरकाने पार्लीयामेंट ने कहा कि कांग्रेस की फैसलासाज़ बॉडी सी डब्ल्यू सी में अलैहदा तेलंगाना रियासत तशकील देने का फैसला हो चुका है ।

सोनिया गांधी के बाशमोल कांग्रेस के सीनियर क़ाइदीन फैसला से दस्तबरदारी को नामुमकिन क़रार दिया है और सीमा – आंध्र के अवाम और क़ाइदीन को अपने ख़दशात पेश करने के लिए एन्टोनी कमेटी तशकील दी है जो अपना काम भी शुरू कर चुकी है।

उन्हों ने चीफ मिनिस्टर पर सख़्त तन्क़ीद करते हुए कहा कि किरण कुमार रेड्डी ने हैदराबाद में ए पी एन जी ओज़ को जल्से मुनाक़िद करने की इजाज़त देते हुए कशीदगी को मज़ीद प्रवान चढ़ाने कोशिश कर रहे हैं अगर हालात ख़राब होते हैं तो इस के लिए हुकूमत ज़िम्मेदार होगी । हैदराबाद में मौजूद सीमा – आंध्र के अवाम रियासत की तक़सीम में तआवुन करें।

TOPPOPULARRECENT