Monday , December 18 2017

तथाकथित चाय वाले ने अगर गरीबी देखी होती तो गरीब का दर्द समझते: लालू यादव

पटना। राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने नोटबंदी पर एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाया और कहा कि गरीब मर रहा है, उसकी आह से कोई नहीं बच सकता है। श्री यादव ने माइक्रोब्लोगिंग साइट ट्विटर पर ट्विट करके कहा है कि तथाकथित चाय वाले ने अगर गरीबी देखी होती तो गरीब का दर्द समझ में आता। इसके विपरीत उसने गरीबों के गले में ही पैर रख दिया है। गरीब मर रहा है। उन्होंने एक और ट्वीट में कहा कि केवल आदेश के आधार पर ही देश नहीं चलता अब प्रचार की दुनिया से बाहर निकल कर गरीबों के दुख साझा कीजिए।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह प्रदेश 18 के अनुसार आरजेडी अध्यक्ष की बेटी और राज्यसभा सदस्य मीसा भारती ने भी नोटबंदी पर फेसबुक और ट्विटर के जरिए मोदी सरकार पर जोरदार हमला किया। उन्होंने कहा कि देश में नये नोट बरस रहे हैं लेकिन बैंक और एटीएम से जनता के लिए नहीं बल्कि एक गुप्त प्रणाली से चोर, भ्रष्ट और भाजपा नेताओं के लिए यह साल रहा है।

सुश्री भारती ने लिखा है कि चेन्नई, हैदराबाद, बेंगलुरु, दिल्ली सहित कई अन्य स्थानों पर करोड़ों नए नोट पकड़े जाने की खबरें आ रही हैं। जो ईमानदार हैं वह लाइन में हैं। खर्च में कटौती कर रहे हैं। पेट काटकर और दिल मसोस कर घर चला रहे हैं जबकि बेईमान मौज मना रहे हैं। नोटबंदी के बहाने सरकार ने उनके और भाजपा के वारे न्यारे कर दिए हैं. सुश्री भारती ने लिखा कि घर में नहीं थे अम्मां चली भुनाने। लोगों को क़तार में लगा कर चले बाजार कागजात खरीदने। छह महीने की तैयारी की सरकार की कलई खुल गई। मोदी जी की प्रशासनिक क्षमता में जबरदस्त सवालिया निशान। उन्होंने कहा कि बिहार में एक कहावत है जिसका अर्थ है खिलाने के समय सब्जी लगाना। यही हाल मोदी सरकार ने देश का कर दिया है। लोगों को लाइन में खड़ा कर दिया नोट छापने के कागज के लिए कंपनियों का चयन करने की तैयारी कर रहे हैं।

सुश्री भारती ने कहा कि खुद का कालाधन भाजपा ने नोटबंदी से ठीक पहले देश भर में जमीन खरीद कर, सोना खरीद कर, भाजपा कार्यालयों के खातों में अरबों रुपये जमा कराकर निपटा लिए। अब तक सरकार ने देश को नहीं बताया कि नोटबंदी के ठीक पहले देश भर के बैंकों में तीन लाख करोड़ कैसे जमा हुए।

TOPPOPULARRECENT