Monday , December 18 2017

तप्ती धूप में बस का इंतिज़ार । पुराना शहर , बस स्टेंड्स पर साइबान नहीं

पुराना शहर हैदराबाद में 80 फीसद बस स्टापस पर साइबान नहीं हैं और मसाफ़रीन को बस के इंतिज़ार में तप्ती धूप में खड़ा रहना पड़ता है ए पी एस आर टी सी के ज़राए के मुताबिक़ पुराना शहर में 140 बस स्टापस हैं और सिर्फ 55 साइबान मौजूद हैं । 85 बस स्ट

पुराना शहर हैदराबाद में 80 फीसद बस स्टापस पर साइबान नहीं हैं और मसाफ़रीन को बस के इंतिज़ार में तप्ती धूप में खड़ा रहना पड़ता है ए पी एस आर टी सी के ज़राए के मुताबिक़ पुराना शहर में 140 बस स्टापस हैं और सिर्फ 55 साइबान मौजूद हैं । 85 बस स्टापस उसे हैं जहां मसाफ़रेन बस के इंतिज़ार में सड़क पर खड़े रहते हैं ।

इन में चारमीनार शाह अली बंडा चंदरायन गट्टा के बस स्टापस शामिल हैं । इस के इलावा लाल दरवाज़ा , बीबी बाज़ार , दारालशफ़ा-ए-, बंद नाका , हाफ़िज़ बाबा नगर , अली आबाद , मधानी , बहादुर पूरा , पुराना पुल , काला पत्थर , ज़ौ पार्क , शमशीर गंज, वटे पली , अप्पू गोड़ा , छतरी नाका , बारकस , इंजन बावली , अरून्धति कॉलोनी , डी एम आर अल क्रास रोड , में भी बस स्टेंड्स पर साइबान नहीं है ।

सिटी कॉलिज बस असटानड पर भी कोई बस शेल्टर नहीं है । तलबा-ओ-तालिबात के इलावा करीब के गर्वनमैंट मैटरनिटी हॉस्पिटल को आने जाने वाली हामिला ख़वातीन बस के इंतिज़ार में धूप में खड़ी रहती हैं ।

गर्मी बढ़ती जा रही है । धूप तेज़ होती जा रही है । मुताल्लिक़ा हुक्काम को चाहीए कि हंगामी ख़ुतूत पर तमाम बस स्टेंड्स पर साइबान तामीर करें।

TOPPOPULARRECENT