Saturday , November 18 2017
Home / Uttar Pradesh / तबादलों की सियासत से नहीं होगा तरक़्क़ी : इफ्तेखार

तबादलों की सियासत से नहीं होगा तरक़्क़ी : इफ्तेखार

गोमिया ब्लॉक शरीक अंचल हेड क्वार्टर में फैली बदउनवानी और दलाल के खिलाफ मंगल को गोमिया अंचल भाकपा कमेटी के बैनर तले मुजाहेरा किया गया। इसके साबिक़ हजारों भाकपा हिमायती गाँव के मर्द-औरत गोमिया हाई स्कूल से ब्लॉक हेड क्वार्टर तक रैल

गोमिया ब्लॉक शरीक अंचल हेड क्वार्टर में फैली बदउनवानी और दलाल के खिलाफ मंगल को गोमिया अंचल भाकपा कमेटी के बैनर तले मुजाहेरा किया गया। इसके साबिक़ हजारों भाकपा हिमायती गाँव के मर्द-औरत गोमिया हाई स्कूल से ब्लॉक हेड क्वार्टर तक रैली निकाल कर लोगों को बेदार किया।

रैली में शामिल लोग हाथों में लाल बैनर और झंडा लिए नारा लगा रहे थे। कियादत अंचल सेक्रेटरी सोमर मांझी और अनवर रफी ने किया। ब्लॉक हेड क्वार्टर पहुंचकर हिमायतों ने मेन दरवाजे पर जामकर इजलास शुरू कर दिया।

भाकपा रियासत कोनसिल के रुक्न इफ्तेखार महमूद ने कहा कि रियासती हुकूमत तबादलों की सियासत से तरक़्क़ी करना चाहती है। मार्च में तबादलों से यह वाजेह हो गया है कि यह महज सियासी फाइदा के लिए उठाया गया कदम है। इससे आवाम का काम में रुकावट पैदा होगा।
कहा कि तरक़्क़ी की बात करने वाले एमएलए एमपी को आम आदमी के काम से कोई मतलब नहीं है। इंतिख़ाब नजदीक है इसलिए तबादलों का खेल शुरू हो गया है। रियासती सेक्रेटरी केडी सिंह ने कहा कि तरक़्क़ी की मंसूबा राजनेता के लोगों को ठेकेदारी दिलाने के लिए की जाती है।

आम आदमी बदउनवान और महंगाई की मार से कराह रहा है। अनवर रफी ने कहा कि गोमिया के पंचायतों में दलाली की नई रस्म के तहत कई मुखिया गाँव की मसायल निपटाने में लगे हैं। खातून मुखिया दूसरे काम में मसरूफ़ हैं। इससे खातून की ताकत को गहरा झटका लगा है।

सदारत समीर हलधर ने की। सभा को पंचानन महतो, छोटेलाल, देवानंद प्रसाद, बीरबल हांसदा, दीपक दास, शकीला बानो, नुरैशा खातून, मुखिया मालती देवी, जीतू सिंह ने खिताब किया। बीडीओ को मेमोरेंडम सौंपा अंचल सेक्रेटरी सोमर मांझी की अगुवई में एक वफ़द टीम ने गोमिया बीडीओ कमलेश्वर नरायण को आठ नुकाती मेमोरेंडम सौंपा।
इसमें तमाम गरीबों का नाम बीपीएल लिस्ट में शामिल करने। फूड तक़सीम में बीपीएल शर्त हटाकर सभी को माहाना 35 किलो अनाज तक़सीम । कच्चा मकान वाले तमाम गरीबों को इंदिरा रिहाहीशगाह ।

TOPPOPULARRECENT