Monday , December 18 2017

तबाही मचाने आ रहा तूफान ‘अशोबा’

तबाही मचाने के लिए इस साल तूफान ‘अशोबा’ आने वाला है। अक्तूबर में आने वाले इस समुद्री तूफान का असर लौहनगरी समेत पूरे झारखंड पर पड़ेगा। बीते साल ‘हुदहुद’ तूफान विशाखापत्तनम से चलकर ओडिशा पहुंचने पर कमजोर पड़ गया था। फिर भी जमशेदपुर

तबाही मचाने के लिए इस साल तूफान ‘अशोबा’ आने वाला है। अक्तूबर में आने वाले इस समुद्री तूफान का असर लौहनगरी समेत पूरे झारखंड पर पड़ेगा। बीते साल ‘हुदहुद’ तूफान विशाखापत्तनम से चलकर ओडिशा पहुंचने पर कमजोर पड़ गया था। फिर भी जमशेदपुर में तूफानी बारिश ने करवाचौथ और दुर्गा पूजा का मजा किरकिरा कर दिया था।

रांची सेंटर के मौसम सायनस्टिस डॉ. अब्दुल वदूद ने बताया कि इस बार बंगाल की खलीज या अरब सागर से जो समुद्री तूफान आएगा वह अशोबा कहलाएगा। यह नाम श्रीलंका के सायनस्टिस की तरफ से दिया गया है। गुजिशता साल इजरायली बर्ड के नाम पर तूफान का नाम ‘हुदहुद’ पड़ा था। अशोबा तूफान के असर के बारे में अभी कुछ कहना मुश्किल है, लेकिन भारी तूफान और बारिश साथ लाता है। झारखंड में इस तूफान के असरदार रहने की इमकान से इनकार नहीं किया जा सकता।

दो सालों से अक्तूबर में आ रहा तूफान

बीते साल 12 अक्तूबर को हुदहुद ओडिशा पहुंचकर थम गया था। हुदहुद से जुनूबी-मशरिक़ ओडिशा ज्यादा मुतासीर हुआ था। जमशेदपुर में 13 अक्तूबर को 415.6 मिलीमीटर बारिश हुई थी। साल 2013 में अक्तूबर के महीने में ही ‘फैलिन’ का असर था। इस बार भी अक्तूबर महीने तूफान की इमकान है।

TOPPOPULARRECENT