Sunday , December 17 2017

तमन्ना मुजफ्फरपूरी के बरसी पर खेराजे अक़ीदत

मदरसा जमिलिया समान पूरा रज़ा बाज़ार पटना में अज़ीम शायर इसरार अहमद उर्फ तमन्ना मुजफ्फरपूरी की पहली बरसी मनाई गयी। इस मौके पर कुरान ख्वानी और मिलाद नबी का भी एहतेमाम किया गया। प्रोग्राम में मौलाना कारी कमरुल होदा नदवी ने अपने खिताब

मदरसा जमिलिया समान पूरा रज़ा बाज़ार पटना में अज़ीम शायर इसरार अहमद उर्फ तमन्ना मुजफ्फरपूरी की पहली बरसी मनाई गयी। इस मौके पर कुरान ख्वानी और मिलाद नबी का भी एहतेमाम किया गया। प्रोग्राम में मौलाना कारी कमरुल होदा नदवी ने अपने खिताब में कहा के लोगों को मरहूम की बीती हुयी ज़िंदगी के कारनामों से आगाह होना चाहिए। उन्होने कहा के तमन्ना मुजफ्फरपूरी एक अज़ीम शायर के इलावह एक अहम शख्सियत के भी मालिक थे। उन्होने पाने नेक बच्चों को भी इतनी अच्छी तालीम दी के आज उनके लिए दुआये खैर करके उनके मगफिरत की दुआएं कर रहे हैं। ये सदका जारिया के शक्ल में है जो ता कयामत तक उन्हें मिलता रहेगा। उस मौके पर मदरसा के सेक्रेटरी इशमायल अहमद ने कहा के तमन्ना मुजफरपूरी ने सिर्फ एक मशहूर शायर थे बल्कि एक नेक दिल और मिलनसार इंसान भी थे। उन्होने कई किताब भी लिखी जो आने वाली नस्लों के लिए कार आमद साबित हो रही हैं। तनकीद तहकीकी आफाक पर्दे के सामने तमन्ना पंच कहता हूँ सच अक़ल मंद बच्चे, वक़्त का मसीहा, कारी फन और फनकार जैसे मौजू शामिल हैं। इस मौके पर प्रोफेशर अलाउद्दीन, शहाबुद्दीन बेग, शकील ससारामी , ज़ाकिर हुसैन, अब्दुर्राहिम वगैरह मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT