Saturday , December 16 2017

तमाम मह्कमाजात बदउनवानी रिश्वतखोरी से मुतास्सिर

ज़िला करीमनगर में रेवेन्यू शोबा में बरसर ख़िदमत बद उनवान मुलाज़िमीन के ख़िलाफ़ महिकमा इंसिदाद रिश्वत सतानी की कार्रवाई के बाद शोबा रेवेन्यू पर एक तरह से बदनामी का ठप्पा लग गया है।

ज़िला करीमनगर में रेवेन्यू शोबा में बरसर ख़िदमत बद उनवान मुलाज़िमीन के ख़िलाफ़ महिकमा इंसिदाद रिश्वत सतानी की कार्रवाई के बाद शोबा रेवेन्यू पर एक तरह से बदनामी का ठप्पा लग गया है।

उसकी वजह से दुसरे सरकारी शोबों में बरसर ख़िदमत मुलाज़िमीन में बदहवासी और बेचैनी पाई जाती है। ज़िला तहसीलदार संघम ने एक बयान में कहा कि रेवेन्यू ओहदेदारों के मुताबिक़ बदउनवानी ,रिश्वतखोरी कम-ओ-बेश हर महिकमा बल्कि मह्कमाजात में बहुत ज़्यादा पाई जाती है जबकि दूसरे मह्कमाजात को नजरअंदाज़ कर दिया जा रहा है और ये एक मंसूबा बंद साज़िश दिखाई दे रही है।

ज़िला तहसीलदार संघम ने कहा कि बरोज़ जुमा कलेक्टर ऑफ़िस में मुनाक़िदा मीटिंग में कलेक्टर की तरफ से दी गईं हिदायात का ग़लत मतलब अख़ज़ करते हुए ये समझ लिया गया कि महिकमा रेवेन्यू में रिश्वत सतानी बदउनवानी उरूज पर है।

इस के सबब महिकमा मुलाज़िमीन में एक किस्म की बेचैनी और पाई जाती है। संघम ने कहा कि निचली सतह के मुलाज़िमीन की ग़ैर इतमीनान बख़श कारकर्दगी की वजह तमाम महिकमा रेवेन्यू को इल्ज़ाम नहीं टहराया जा सकता और महिकमा को शक की नज़र देखना ग़लत है।

TOPPOPULARRECENT