Saturday , December 16 2017

तमाम स्कूल्स में सरकारी निसाब राइज करने हुकूमते तेलंगाना का सख़्त मौक़िफ़

हुकूमते तेलंगाना की जानिब से सरकारी, ख़ान्गी और इमदादी स्कूलों में पहली ता पांचवीं जमात सरकारी निसाब की शमूलीयत के फ़ैसला पर ख़ान्गी स्कूलों के ज़िम्मेदारान हुकूमत से टकराव के मौक़िफ़ अख़्तियार कर चुके हैं लेकिन हुकूमत की जानिब से भी बिलवास्ता तौर पर ये वाज़ेह कर दिया गया है कि हुकूमत अपने फ़ैसला से दस्तबरदारी अख़्तियार करने के मौक़िफ़ में नहीं है क्योंकि हुकूमत, तलबा , औलियाए तलबा और सरपरस्तों के मुफ़ादात को मल्हूज़ रखते हुए ये फ़ैसला कर चुकी है।

महकमा तालीम के ओहदेदारों के बामूजिब हुकूमत ने मुतअद्दिद शिकायात और मनमानी कुतुब के ख़रीदारी के लज़ूम के आइद किए जाने की इत्तिलाआत मौसूल होने के बाद ही इस बात का फ़ैसला किया है कि रियासत भर में यक्साँ निसाब को यक़ीनी बनाया जाए जोकि हुकूमत की जानिब से रोशनास कर्दा सी सी ई तर्ज़ तालीम के म्यार को पूरा कर सके।

कॉरपोरेट तर्ज़ तालीम रखने वाले इदारों में भी सरकारी निसाब का पढ़ाया जाना लाज़िमी क़रार दिए जाने के बाद इस तरह की हरकतें हुकूमत से टकराव का मूजिब बन सकती हैं।

TOPPOPULARRECENT