Thursday , September 20 2018

तमिलनाडु में वीएचपी की रथ यात्रा रोकने के लिए सरकार से 4 विधायकों की अपील

विश्व हिंदू परिषद की राम राज्य रथ यात्रा के तमिलनाडु पहुंचने से पहले ही विरोध शुरू हो चुका है. जहां एक ओर DMK नेता एमके स्टालिन ने तमिलनाडु सरकार से इस रथ यात्रा को रोकने की अपील की है, वहीं चार स्वतंत्र विधायकों ने भी सीएम पलानीसामी से सांप्रदायिक तनाव होने की चिंता जाहिर करते हुए इस यात्रा को रोकने की गुहार लगाई.

तिरुनेलवेली में धारा 144 लागू

चारों विधायकों ने कहा कि वे वीएचपी की रथ यात्रा रोकने के लिए हर संभव कोशिश करेंगे. हालात को देखते हुए तिरुनेलवेली शहर में धारा 144 लागू कर दी गई है, जो 23 मार्च तक जारी रहेगी. इस यात्रा को बाधा पहुंचाने की धमकी के बाद पुलिस ने दो नेताओं को हिरासत में ले लिया है. पुलिस उन सभी नेताओं की भी तलाश कर रही है, जिन्होंने रथ यात्रा  रोकने की घोषणा की थी. इस रथ यात्रा का विरोध कर रहे नेताओं का कहना है कि इससे सांप्रदायिक सौहार्द और राज्य की शांति खतरे में पड़ जाएगी.

विधानसभा में विधायक अबु बकर ने कहा, ‘वे राम राज्य की स्थापना करना चाहते हैं, लेकिन हमें इंडिया राज्य की जरूरत है. हमने सरकार को इससे संबंधित नोटिस दी, लेकिन इस मसले पर कुछ नहीं किया गया. हमें वॉक आउट के लिए मजबूर किया गया.’ डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन ने भी इस यात्रा को मंजूरी देने के लिए तमिलनाडु सरकार की आलोचना की है.

विश्व हिंदू परिषद की 41 दिनों की राम राज्य रथ  यात्रा  का समापन रामेश्वरम में होना है. इस रथ यात्रा का आरंभ 13 फरवरी को उत्तर प्रदेश से हुआ था.

TOPPOPULARRECENT