Saturday , December 16 2017

तलबा को इम्तेहान में वक़्त के सही इस्तेमाल का मश्वरा

तलबा दौरान तालीम अपनी सलाहीयतों को जांच कर उभारने से शानदार मुस्तक़बिल बन सकता है। इम्तेहान की तैयारी की तीकनक, आला निशानात के हुसूल और कामयाबी पर एक निहायत मालूमाती कैरीयर गाईडेंस प्रोग्राम कोरटला के रॉयल फंक्शन हाल में ऐस आई ओ

तलबा दौरान तालीम अपनी सलाहीयतों को जांच कर उभारने से शानदार मुस्तक़बिल बन सकता है। इम्तेहान की तैयारी की तीकनक, आला निशानात के हुसूल और कामयाबी पर एक निहायत मालूमाती कैरीयर गाईडेंस प्रोग्राम कोरटला के रॉयल फंक्शन हाल में ऐस आई ओ आफ़ इंडिया के ज़ेर-ए‍एहतेमाम मुनाक़िद हुआ।

इस मौक़ा पर नामवर माहिर-ए-तालीम और कैरीयर कौंसलर एम ए हमीद ने खेताब किया और तलबा को इम्तेहान के लिए हिक्मत-ए-अमली, मंसूबा बंदी, वक़्त मैनेजमेंट के सही इस्तेमाल पर ज़ोर दिया। उन्होंने तलबा-ओ- तालिबात के मुख़्तलिफ़ सवालात का तश्फ़ी बख्श जवाब देते हुए कहा कि आज तालीमी मवाद इतना मिल रहा है कि कामयाब होना आसान और फ़ेल होना मुश्किल होचुका है।

उन्होंने मुख़्तलिफ़ नौईयत के इम्तेहानात के बारे में तफ्सीलात बताई। इबतदा-ए-में अबदुर्रहीम यूनिट आर्गेनाईज़र कोरटला ने ख़ौरमक़दम किया। मुहम्मद नईम उद्दीन अमीर मुक़ामी जमात-ए-इस्लामी ने सदारत की और अपनी सदारती तक़रीर में तलबा को मश्वरा दिया कि वो रहनुमाई से भरपूर इस्तेफ़ादा करें और ऐसे प्रोग्राम के मक़सद को पूरा करने के लिए आला निशानात से कामयाबी हासिल करें।

बिरादर अबदुल हकीम क़मर सदर सिटी एस आई ओ निज़ामाबाद ने तक़रीर में मौजूदा हालात पर रोशनी डाली। प्रोग्राम का आग़ाज़ मुहम्मद सलाह उद्दीन की क़रा॔त कलाम पाक से हुआ। निज़ामत के फ़राइज़ अब्दुल जव्वाद ने अंजाम दिये। जनाब मुबश्शिर ने शुक्रिया अदा किया।

इस मौक़ा पर तलबा ओ तालिबात की कसीर तादाद ने शिरकत की। मेंबरान एस आई ओ मुहम्मद आरिफ़, आफ़ाक़, आबिद, मुईन, मुख़तार, असद उल्लाह, आसिफ़, अतहर और उसमान इस मौक़ा पर मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT