Thursday , January 18 2018

तलाक़ विवाद: जशोदाबेन को इंसाफ दिलाने के लिए इंटरनेट पर मुहिम

प्रधानमंत्री मोदी ने 24 ऑक्टूबर को दिए अपने भाषण में तीन तलाक़ व्यवस्था की निंदा की थी। अपनी पार्टी लाइन के साथ खड़े होते हुए मुस्लिम समुदाय की इस प्रचलन को गलत बताया था और इनके हक़ और इंसाफ की बात भी कही थी।

प्रधानमंत्री के इस भाषण के बाद उनसे से उनकी पत्नी जशोदाबेन के विषय में लोगों ने सोशल मीडिया पर सवाल तरह तरह के सवाल पूछे गए और कहा गया कि मोदी पहले अपनी पत्नी के साथ इंसाफ करें उनका हक़ उन्हें दें। इस बीच जशोदाबेन को इंसाफ दिलाने के लिए इंटरनेट पर मुहिम शुरू हो गयी है। chnage.org नाम की एक संस्था ने प्रधानमंत्री मोदी के नाम एक याचिका इंटरनेट पर लोगों से साइन करवा रही है।

Cnage.org ने अपने हलफनामे में लिखा है कि प्रधानमंत्री पहले वो कर के दिखाएँ जो आप दूसरों को प्रवचन दे रहे हैं। जशोदाबेन को एक नागरिक होने के नाते जो अधिकार प्राप्त होने चाहिए थे वे उनके पास नहीं है। जशोदाबेन 2015 में अपने परिवार से मिलने विदेश जाना चाहती थीं। लेकिन उनके पास पासपोर्ट नहीं था उनके पासपोर्ट के आवेदन को इसलिए लौटा दिया गया था क्योंकि उनके पास वैवाहिक होने का प्रमाण पत्र नहीं था। वहीँ गुजरात में मोदी के ऊपर एक महिला की जासूसी करवाने का गंभीर आरोप भी है।
इस सवालों के साथ change.org मोदी से महिला अधिकार की बात करने वाले प्रधानमंत्री से जशोदाबेन के लिए इंसाफ की गुहार करने जा रही है।

#JusticeForJashodaben

TOPPOPULARRECENT