Tuesday , November 21 2017
Home / Islami Duniya / तवाफ़ के दौरान 170 आज़मीन बेहोश

तवाफ़ के दौरान 170 आज़मीन बेहोश

मक्का मुअज़्ज़मा 04 सितम्बर: मक्का मुअज़्ज़मा में सालाना फ़रीज़ा हज की अदायगी के लिए लाखों मुसलमानों की आमद का सिलसिला जारी है। हर्म शरीफ़ में बढ़ते हुजूम और गर्मी की शिद्दत से तवाफ़ के दौरान अब तक 170 आज़मीन बेहोश हो कर गिर पड़े।

दर्जा हरारत के अलावा आज़मीन के हुजूम के बीच ज़ईफ़ आज़मीन पर शदीद दबाओ बढ़ता है जिसकी वजह से उनमें कमज़ोरी और नक़ाहत की वजह से तकान पैदा हुई। सिविल डीफेंस टीमें एसे आज़मीन को बरवक़्त तिब्बी इमदाद देकर फ़ौरी राहत बख़शने में मसरूफ़ हैं । डायरेक्टर सिविल डीफेंस अहमद बिन अबदुलअज़ीज़ ने कहा कि ज़्यादा-तर मुअम्मर आज़मीन-ए-हज्ज बेहोश हो कर गिर पड़े हैं।उनमें से अक्सर आज़मीन पीराना-साली के बाइस अलील हुए हैं।

नमाजे जुमा के दौरान आज़मीन का हुजूम बढ़ जाने से मुअम्मर आज़मीन बेचैनी और घुटन महसूस करने लगे। उन्हें बरवक़्त तिब्बी राहत पहोनचाई जा रही है। एमरजेंसी ख़िदमात फ़राहम कर दी हैं और उन्हें फ़ौरी वहां से उठा कर फ़्री हेल्थ सेंटर में मुंतक़िल कर रही हैं इस अमल में रेडकरीसेंट सोसाइटी भी तआवुन कर रही है।

अहमद बिन अबदुलअज़ीज़ ने कहा कि हर्म शरीफ़ में एमरजेंसी ख़िदमात फ़राहम करने के लिए तायिनात अमला में इज़ाफ़ा किया है। ये अमला ज़ख़मीयों का ईलाज करने और तवाफ़ के दौरान बेहोश हो कर गिरने वालों को बरवक़्त स्ट्रकचर पर लेकर हेल्थ सेंटर में तिब्बी इमदाद देता है। उम्र और अलालत की वजह तवाफ़ के दौरान एसे ज़ईफ़ लोगों के बेहोश हो कर गिरने की शिकायत आम है।

मक्का मुअज़्ज़मा हर्म शरीफ़ में तमाम ज़रूरी इंतेज़ामात किए गए हैं। हरकियाती मिशनरी चौकस है। और एम्बुलेंस गाड़ीयों के अलावा मेडिकल स्पलाई भी बरवक़्त जारी है। किसी भी वाक़िये से बरवक़्त निमटने वाली टीमें चौकस हैं इमदादी टीमों को हर्म शरीफ़ के तमाम बाब उल-दाख़िलों पर तैयार रखा गया है। इस के अलावा मताफ़ के इलाके में भी तिब्बी टीमें तायिनात हैं। फ़ील्ड टीमें भी बरवक़्त हरकत में आने के लिए तैयार हैं। हज के दौरान किसी भी किस्म की एमरजेंसी की सूरत में ये टीमें सरगर्म होंगी।

TOPPOPULARRECENT