Wednesday , December 13 2017

तहफ़्फ़ुज़ के लिए ख़वातीन की अमरीका को मुंतकली की तरदीद

नई दिल्ली: हिन्दुस्तान में ख़वातीन के हालात पर अरकान लोक सभा की तशवीश से आज हुकूमत ने भी इत्तेफ़ाक़ किया और इद्दिआ किया कि ख़वातीन को बाइख़तियार बनाने के लिए मुतअद्दिद इक़दामात किए गए हैं। नीज़ उन्हें दरपेश चैलेंजों से निमटा जा रहा है। जिसके नतीजे में आइन्दा दो साल के दौरान ख़वातीन के हालात में काबुल लिहाज़ बेहतरी होगी।

वज़ीर बहबूदी ख़वातीन-ओ-इतफ़ाल मेनका गांधी ने ख़वातीन के लिए किए गए मुख़्तलिफ़ इक़दामात का तज़किरा किया जिनमें हर दिहात में ख़ुसूसी पुलिस वोलेनटियर्स , रियासतों में ख़वातीन के लिए हेल्प् लाइंस के अलावा मोबाईल फोन्स पर ख़तरे की घंटी वग़ैरा शामिल हैं।

मेनका गांधी ने वक़फ़ा सिफ़र के दौरान इस मसले पर एक सवाल पर जवाब दिया कि मयों भी इस बात से इत्तेफ़ाक़ करती हूँ कि गुज़िश्ता चंद साल से ख़वातीन के हालात बेहतर नहीं रहे हैं लेकिन आइन्दा चंद साल के दौरान इस में नुमायां बेहतरी होगी। उन्होंने बी जे पी के एक रुकन हुक्म संगी के इस दावे को मुस्तरद कर दिया कि बाज़ ख़वातीन हिन्दुस्तान को अपने लिए एक महफ़ूज़ मुल्क महसूस ना करते हुए अमरीका में सुकूनत इख़तियार कर रही हैं। मेनका गांधी ने रिमार्क किया कि ऐसी ख़वातीन को अपनी सुकूनत के लिए इख़तियार करदा मुल्क के बारे में फ़िक्रमंद होना चाहिए क्योंकि अमरीका और यूरोप में इस्मत रेज़ि के वाक़ियात का औसत 10 ता 100 गुना ज़्यादा है।

TOPPOPULARRECENT