Tuesday , December 19 2017

तहरान में सऊदी सिफ़ारत ख़ाना नज़र-ए-आतिश

हरान 04 जनवरी: सऊदी अरब की तरफ से दो आला सतही शीया उल्मा दीन को सज़ा-ए-मौत देने के ख़िलाफ़ एहतिजाज करते हुए अवाम के ब्रहम हुजूम सऊदी अरब के सिफ़ारतख़ाना में ज़बरदस्त दाख़िल हो गए।उन्हें पुलिस ने इमारत से बाहर निकाल दिया।

मशहद में जो ईरान का दूसरा सबसे बड़ा शहर है। एहितजाजी मुज़ाहिरीन ने सऊदी अरब के क़ौंसिलख़ाना को नज़र-ए-आतिश कर दिया। ख़बररसां इदारा एसनी के मुताबिक जिसमें इस हमले की तस्वीरें भी शाय की गई हैं। ये वाक़ियात 56 साला आलमे दीन एक कलीदी शख़्सियत हैं जो 2011 से सऊदी अरब में हुकूमत मुख़ालिफ़ एहितजाजी मुज़ाहिरों में पेश पेश थे को सज़ा-ए-मौत देने के एलान के चंद घंटे बाद ही ईरान में मुल्क गीर सतह पर मुख़ालिफ़ सऊदी एहतिजाज शुरू हो गया। शीया अक्सरीयत वाले ममालिक ईरान और इराक़ में सज़ा-ए-मौत की शदीद मुज़म्मत की।

सिफ़ारत ख़ाना के अंदर शोले भड़क रहे हैं। एहितजाजी मुज़ाहिरीन को अंदर दाख़िल होने से रोक दिया गया और जितने लोग अंदर दाख़िल हो गए थे उन्हें बाहर निकाल दिया गया। आग से सिफ़ारत ख़ाना के अंदरून हिस्से को नुक़्सान पहुंचा और इमारत का अंदरून हिस्सा तबाह हो गया।

पुलिस हर जगह मौजूद हैं जिसने एहितजाजियों को मुंतशिर कर दिया और उन में से चंद को गिरफ़्तार कर लिया गया है। एहितजाजी सिफ़ारत ख़ाना की छत पर चढ़ने में कामयाब हो गए उस के बाद पुलिस ने उन्हें बाहर निकलने पर मजबूर कर दिया। चंद गिरफ्तारियां भी की गईं।

TOPPOPULARRECENT