Saturday , December 16 2017

तहरीक में जायदाद को नुकसान पहुंचाने पर पांच साल तक जेल

रांची : किसी भी आंदोलन के दौरान जाती या सरकारी जायदाद को नुकसान पहुंचानेवाले को अब पांच साल तक की जेल की सजा काटनी होगी़ मंगल को हुई झारखंड कैबिनेट की बैठक में संपत्ति विनाश और क्षति निवारण एक्ट 2016 को मंजूरी दे दी गयी़.

facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

इस एक्ट के तहत आंदोलन में नुकसान पहुंचाने पर आंदोलनकारियों से उसकी वसूली करने की तजवीज किया गया है. बंद, आंदोलन या हड़ताल से मुताल्लिक आयोजनों के दौरान आयोजनकर्ताओं की जिम्मेवारी होगी कि वह जुलूस के रास्ते का पुलिस से मिल कर करें. इस तरह के आयोजनों में लाठी, डंडा, चाकू या दीगर किस्म के असलाह को लेकर चलना बैन होगा. ऐसा करने पर मुताल्लिक सख्श को एक साल तक के जेल की सजा सुनायी जा सकेगी. जायदाद को नुकसान पहुंचाने की सूरते हाल में अफसर उसका मूल्यांकन करेंगे और आंदोलनकारियों से इसकी वसूली की जायेगी.

TOPPOPULARRECENT