Tuesday , December 12 2017

तहवारों के सीज़न में प्याज़ की क़ीमतों में इज़ाफे की इजाज़त ना देने हकूमत-ए-हिन्द का ऐलान

तहवारों के सीज़न में प्याज़ की क़ीमतों में इज़ाफे के अंदेशों के दौरान मर्कज़ी वज़ीर-ए-ज़राअत राधा मोहन सिंह ने आज कहा कि हुकूमत प्याज़ की क़ीमतें दुबारा 80 ता 100 रुपये फ़ी किलोग्राम होने ना देने को यक़ीनी बनाएगी। बारिश की आमद में ताख़ीर की

तहवारों के सीज़न में प्याज़ की क़ीमतों में इज़ाफे के अंदेशों के दौरान मर्कज़ी वज़ीर-ए-ज़राअत राधा मोहन सिंह ने आज कहा कि हुकूमत प्याज़ की क़ीमतें दुबारा 80 ता 100 रुपये फ़ी किलोग्राम होने ना देने को यक़ीनी बनाएगी। बारिश की आमद में ताख़ीर की वजह से ख़रीफ़ की प्याज़ की फ़सल में भी एक माह की ताख़ीर हुई।

महाराष्ट्र ,राजिस्थान और मध्य प्रदेश में प्याज़ की ख़रीफ़ की फ़सल होती है। इस में ताख़ीर की वजह से प्याज़ की क़ीमतों में इज़ाफ़ा होगया । दिल्ली के अवाम जानते हैं कि साबिक़ हुकूमत प्याज़ की क़ीमतों में इज़ाफ़ा की वजह से ख़ौफ़ज़दा थी अब प्याज़ की क़ीमत 25 ता 30 रुपये फ़ी किलोग्राम है।

हुकूमत चौकस है और इस में इज़ाफे की इजाज़त नहीं देगी। वो दिल्ली के शोबा की सी आई आई के ज़ेर-ए-एहतिमाम मुनाक़िदा एक तक़रीब के मौक़े पर अलाहदा तौर पर एक प्रेस‌ कान्फ्रेंस‌ से ख़िताब कररहे थे। उन्होंने तैक़ून‌ दिया कि हुकूमत हर मुम्किन इक़दाम करेगी और प्याज़ की क़ीमत दुबारा 80 ता 100 रुपये फ़ी किलोग्राम होने नहीं देगी जो सारिफ़ीन केलिए इंतिहाई तकलीफ़देह है। उन्होंने अवाम से दरयाफ़त किया कि गुज़शता साल प्याज़ की क़ीमत और उसकी मौजूदा क़ीमत का तक़ाबुल करें तो उन्हें मालूम होजाएगा कि मौजूदा हुकूमत प्याज़ के अलावा फलों और तर्कारीयों की क़ीमत पर भी क़ाबू पाने केलिए हर मुम्किन कोशिश कररही है।

TOPPOPULARRECENT