Sunday , November 19 2017
Home / Khaas Khabar / तहफ़्फुज़ात के लिए मुसलमानों का इत्तेहाद आदिलाबाद में तारीख़ी रैली

तहफ़्फुज़ात के लिए मुसलमानों का इत्तेहाद आदिलाबाद में तारीख़ी रैली

हैदराबाद 14 नवंबर: रियासत तेलंगाना में मुस्लिम तहफ़्फुज़ात के लिए जारी तहरीक ज़बरदस्त रुख इख़तियार कर गई है। आदिलाबाद में हुसूल 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात के लिए ज़बरदस्त मुज़ाहरा किया गया।

तहफ़्फुज़ात के हुसूल के लिए बाद नमाज़-ए-जुमा निकाली गई रैली मैं हज़ारों मुसलमानों ने शिरकत की। इस मुज़ाहरे से शहर के तमाम रास्ता जाम हो गए और सरकारी मिशनरी दहल गई।

आदिलाबाद में ये पहला मौक़ा था जहां मुस्लमान सियासी मिली-ओ-समाजी और मसलकी वाबस्तगी को बालाए ताक़ रखते हुए रैली -ओ‍-जलसे में शरीक थे।

मुसलमानों के इत्तेहाद-ओ-हुसूल तहफ़्फुज़ात के मुतालिबे पर इस तरह का तारीख़ी मुज़ाहरा आदिलाबाद सिर्फ़ आदिलाबाद के लिए नहीं बल्कि सारी रियासत के लिए मिशअल-ए-राह बन गया है। याद रहे कि 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात के लिए रोज़नामा सियासत की तरफ से शऊर बेदारी मुहिम और तहरीक चलाई जा रही है। आदिलाबाद की इस रैली और जलसे में तहरीक के रूह-ए-रवाँ आमिर अली ख़ान न्यूज़ एडीटर सियासत ने शिरकत की।

12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात के हुसूल तक तहरीक को जारी रखने और अज़ला के दौरा करने का मन्सूबा तैयार किया गया था और सरपरस्त आला 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात तहरीक ज़ाहिद अली ख़ान एडीटर सियासत की ख़ुसूसी हिदायत और जामा हिक्मत-ए-अमली के तहत आमिर अली ख़ान अज़ला के दौरों पर हैं।

आमिर अली ख़ान ने आदिलाबाद में मुसलमानों के इत्तेहाद और मिली जज़बा को सलाम किया और मुत्तहदा मुज़ाहरा की ज़बरदस्त सताइश की।

आमिर अली ख़ान की काविशों को आदिलाबाद की बाअसर सियासी-ओ-मिली शख़्सियतों ने ज़बरदस्त सताइश की और 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात तहरीक को अपनी भरपूर ताईद का एलान करते हुए मुस्लिम जवाइंट एक्शण कमेटी को भी तशकील दे दिया और एलान भी कर दिया गया के इस तरह के प्रोग्राम्स की ये अज़ीमुश्शान रैली -ओ-जल्सा-ए-आम शुरूआत है और साथ ही हुकूमत को बावर किया कि वो मुसलमानों से किए गए वादे पर अमल आवरी के लिए जल्द अज़ जल्द इक़दामात करे।

उन्होंने सुधीर कमीशन का हवाला देते हुए कहा कि सुधीर कमीशन के क़ियाम से मुसलमानों को तहफ़्फुज़ात फ़राहम नहीं किए जा सकते और ना ही इस कमीशन के ज़रीये ये मुम्किन है।

उन्होंने बी सी कमीशन के क़ियाम का मुतालिबा किया और कहा कि दस्तूरी तौर पर सिर्फ बी सी कमीशन ही तहफ़्फुज़ात फ़राहमी के लिए वहेद ज़रया है।

TOPPOPULARRECENT