Thursday , January 18 2018

तहफ़्फुज़ात के लिए सियासत की तहरीक का ख़ौरमक़दम

निज़ामबाद 14 सितंबर:मुस्लिम तहफ़्फुज़ात को यक़ीनी बनाने के लिए रियासती हुकूमत से मुतालिबा और अवाम में शऊर बेदारी के लिए रोज़नामा सियासत और मुस्लिम एम्पावरमेंट की तरफ से मुनाक़िदा किंग्स पैलेस फंक्शन हाल में मुनाक़िदा जलसे से मुख़ातिब करते हुए सदर ज़िला वक़्फ़ कमेटी मुहम्मद जाविद अकरम ने रोज़नामा सियासत की तरफ से शुरू करदा तहरीक की ज़बरदस्त सताइश करते हुए देढ़ साल का वक़फ़ा गुज़रने के बावजूद भी मुसलमानों को 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात की अदम फ़राहमी और मुलाज़िमतों की भर्ती के लिए हुकूमत की तरफ से की जाने वाली कोशिश और इस से होने वाले नुक़्सानात का अंदाज़ा लगाते हुए क़ौम-ओ-मिल्लत में शऊर बेदारी का रोज़नामा सियासत की तरफ से उठाए गए क़दम की भर पूर सताइश करते हुए कहा कि हर मुस्लमान उस का भरपूर साथ देते हुए हुकूमती सतह पर दबाव डालने की सूरत में रियासती हुकूमत तहफ़्फुज़ात को यक़ीनी बनाने के लिए मजबूर हो जाएगीगी।

उन्होंने निज़ामबाद में मुनाक़िदा जलसे की इत्तेला चीन में मसरूफ़ चीफ़ मिनिस्टर को हासिल होते ही ये कुछ भी सोंचने पर मजबूर होजाएंगे। उन्होंने अपनी तरफ से निज़ामबाद में बड़े पैमाने पर जलसे के इनइक़ाद का ज़िक्र करते हुए कहा कि बड़े पैमाने पर जलसे के इनइक़ाद के अलावा ज़िला सतह पर तहरीक चलाने और पमफ़्लेटस की तक़सीम-ए-अमल में लाने का इरादा ज़ाहिर किया।

एडीटर सियासत ज़ाहिद अली ख़ान और न्यूज़ एडीटर आमिर अली ख़ान की ख़िदमात की भी सताइश की। इस मौके पर मौज़फ़ लेक्चरार‍ ओ‍ तेलंगाना यूनीवर्सिटी के अडवाईज़री कमेटी के साबिक़ रुकन मुहम्मद नसीरुद्दीन ने अपनी तक़रीर में कहा कि रोज़नामा सियासत की तरफ से शुरू करदा तहरीक काबिल-ए-सताइश है

TOPPOPULARRECENT