Tuesday , December 19 2017

तहफ़्फुज़ात गरीब‌ मुस्लमानों का भी हक़, मर्कज़ी वज़ीर सलमान ख़ूर्शीद का बयान‌

लखनऊ 18 मार्च : ( प्रेस नोट ) मर्कज़ी वज़ीर-ए-ख़ारजा सलमान ख़ुर्शीद ने गरीब‌ मुस्लमानों को रिज़र्वेशन देने की वकालत करते हुए कहा कि गरीब‌ मुस्लमानों का भी इतना ही हक़ है जितना दीगर गरीब‌ तबक़ात का। आंध्रा प्रदेश में गुजिश्ता तीन साल से रिज़र्वेशन मिल रहा है लेकिन जब उत्तरप्रदेश में ये कोशिश की गई तो कुछ लोगों ने जिन के सयासी फायदा थे ने रुकावट पैदा की ।

उत्तरप्रदेश की 19 फ़ीसद मुस्लिम आबादी में 11 फ़ीसद पसमांदा मुस्लिम हैं इस लिये 4.5 फ़ीसद रिज़र्वेशन इनका हक़ बनता है। ख़ूर्शीद ने इन ख़्यालात का इज़हार आज बारहवीं पंच साला मंसूबे में अक़ल्लीयतों के मौज़ू पर क़ौमी कान्फ़्रैंस के दौरान किया। उन्होंने कहा कि सभी मुस्लमानों को रिज़र्वेशन देने का बार-बार मुतालिबा किया जाता है लेकिन अभी तक किसी कोर्ट ने मुस्लमानों को पसमांदा नहीं माना है।

सिर्फ़ सच्चर कमेटी ने और रंगा नाथ मिश्रा कमीशन ने मुस्लमानों को पसमांदा बताया है । आंध्रा प्रदेश में मुस्लमानों को जो रिज़र्वेशन मिल रहा है वो उनकी 95 फ़ीसद पसमांदगी की बुनियाद पर है। सभी मुस्लमानों को उसी वक़्त रिज़र्वेशन मिल सकता है जब आईन में तरमीम हो।

उन्होंने मुल्क की मआशी(आर्थिक) तरक़्क़ी पर इज़हार-ए-ख़्याल करते हुए कहा कि हमारी तरक़्क़ी की शरह आठ फ़ीसद थी और हमें उम्मीद थी कि दस फ़ीसद का हदफ़ पूरा कर लेंगे। लेकिन बैन-उल-अक़वामी सतह पर जो इक़तिसादी मंदी आई। इस ने हमारी तरक़्क़ी को भी मुतास्सिर(प्रभावित) किया और तरक़्क़ी की शरह 5.5फ़ीसद पर पहुंच गई।

उन्होंने कहा कि आप ने इस मुल्क पर हुकूमत की है इसलिए आप क़ियादत कर सकते हैं इस लिए आप इस बात को ज़हन से निकाल दें कि आप खूंटे से बंधे हैं बल्कि आप को खूंटा गाड़ना है। मर्कज़ी वज़ीर बराए फ़रोग़ इंसानी वसाइल एम पल्लम राजू ने क़ानून हक़ तालीम को तालीम की सिम्त पेशरफ़त बताते कहा कि उसकी वजह से 96 फ़ीसद बच्चे स्कूल जा रहे हैं जबकि सौ फ़ीसद की कोशिश हो रही है ।

इन का कहना था कि मिड डे मेल की वजह से सरवा शखशा अभियान कामयाब हुआ है । उन्हों ने हुकूमत की मुख़्तलिफ़ स्कीमों के ताल्लुक़ से बेदारी पैदा करने की कोशिश ज़ोर देते हुए कहा कि स्कीमों को ज़्यादा से ज़्यादा अमल दर आमद कराने की कोशिश कराना हमारी अव्वलीन तर्जीह है।

TOPPOPULARRECENT