Tuesday , November 21 2017
Home / Hyderabad News / तहफ़्फुज़ात तहरीक का अज़ला में ज़ोर , हैदराबाद में पेशरफ़त

तहफ़्फुज़ात तहरीक का अज़ला में ज़ोर , हैदराबाद में पेशरफ़त

हैदराबाद 11 अक्टूबर: टी आर एस सरबराह-ओ-चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ ने वादा किया था कि अगर उनको इक़तेदार मिलता है तो वो मुस्लमानों को अंदरून 4 माह 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात देंगे। 14 माह गुज़रने के बावजूद इस पर अमली इक़दाम नहीं हुआ। सुधीर कमेटी सिफ़ारिशात के इंतेज़ार की बजाये बी सी कमीशन रिपोर्ट से उन पर अमल आवरी मुम्किन है अब जबकि रियासत में सरकारी मुलाज़िमतों के तक़र्रुत का अमल शुरू हो चुका है 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात से मुस्लिम क़ौम का बड़ा फ़ायदा होगा वर्ना हक़तेलफ़ी होगी। इन ख़्यालात का इज़हार ज़ाहिद अली ख़ां एडीटर सियासत ने एस एससी तेलुगु कोइस्चन बैंक की रस्म इजराई करते हुए किया और कहा कि वो इस ज़िमन में चीफ़ मिनिस्टर को खुला ख़त तहरीर कर चुके हैं।

अज़ला में ये तहरीक ज़ोर पकड़ चुकी है अब हैदराबाद में आगे बढ़ रही है। उन्होंने तलबा बिरादरी पर-ज़ोर दिया कि वो तीन ज़बानों पर उबूर हासिल करें। अंग्रेज़ी बैन-उल-अक़वामी ज़बान है तेलुगु मुक़ामी सरकारी ज़बान है और उर्दू मादरी ज़बान है। उर्दू ज़बान अपने दम-ख़म पर ज़िंदा है। इस में इतनी ताक़त हैके उस को कोई चाह कर भी ख़त्म नहीं करसकता। उर्दू ज़बान से एसे प्यार करें जैसा आप अपनी माँ को चाहते हैं। नई नसल को दरख़शां मुस्तक़बिल के लिए डाक्टर, इंजीनियर के बजाये कई और पेशे हैं उनको अपनाने का मश्वेरह देते हुए कहा कि मुस्लिम तहफ़्फुज़ात की तहरीक भी आप के लिए है ताके मुस्तक़बिल में आपको तालीम और रोज़गार के मवाक़े मयस्सर आसकें।

सेक्रेट्रियट में कभी मुस्लिम अफ़राद की अक्सरीयत थी आज बमुश्किल एक दो नज़र आते हैं। सियासत की सरगर्मीयों के हवाले से बताया कि एस एससी कोइसचन बैंक की इशाअत के निहायत समर आवर नताइज बरामद हो रहे हैं। अहमद बशीरुद्दीन फ़ारूक़ी रिटायर्ड डिप्टी एजूकेशनल ऑफीसर ने कोइसचन बैंक की तैयारी और उनके मुआवनीन का शुक्रिया अदा करते हुए स्कूल ज़िम्मे दारान के इश्तिराक पर इज़हार-ए-तशक्कुर किया।

TOPPOPULARRECENT