Saturday , December 16 2017

तहफ़्फुज़ात मुसलमानों का हक़ हुसूल के लिए मुत्तहदा जद्द-ओ-जहद ज़रूरी

वर्ंगल 14 सितंबर: मुसलमानों के लिए 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात के वादे की याद-दहानी के लिए इदारा सियासत की तरफ से शुरू करदा तहरीक ना किसी सियासी जमात के ख़िलाफ़ है और ना किसी सियासी जमात की ताईद में है। ये तहरीक मुसलमानों की तहरीक है और इस का मक़सद वादे की तकमिल के लिए हुकूमत पर दबाओ डालना है।

इन ख़्यालात का इज़हार न्यूज़ एडीटर सियासत आमिर अली ख़ां ने किया। आमिर अली ख़ां सिटी पैलेस फंक्शन हाल एल्बीनगर वर्ंगल में मुनाक़िदा राउंड टेबल कांफ्रेंस से ख़िताब कर रहे थे।

उन्होंने रोज़नामा सियासत की 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात के लिए शुरू करदा तहरीक पर मुसलमानों के रद्द-ए-अमल पर इज़हार-ए-तशक्कुर करते हुए कहा कि सियासत की ये तहरीक किसी सियासी जमात के ख़िलाफ़ नहीं है और ना ही किसी जमात की ताईद में है, बल्कि मुसलमानों से जो वादा किया गया था, इस को पूरा करने के लिए हुकूमत पर दबाओ डालने की एक कोशिश है।

इस मौके पर तमाम सियासी जमातों, रज़ाकाराना और फ़लाही तन्ज़ीमों के सरकरदा शख़्सियतों के अलावा नौजवानों और ख़वातीन की बड़ी तादाद मौजूद थी। उन्होंने कहा कि रोज़नामा सियासत की तरफ से शुरू करदा ये तहरीक तमाम मुसलमानों की तहरीक है।

उन्होंने कहा कि टी आर एस ने अपने चुनाव मंशूर में 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात फ़राहम करने का वादा किया था, लिहाज़ा हम तमाम मुसलमानों को एक प्लेटफार्म पर जमा करके मुसलमानों से किए गए वादे को पूरा करने मुत्तहदा तौर पर मुतालिबा कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि 12 फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात का हुसूल मुसलमानों का हक़ है, जिसको हासिल करने के लिए तमाम मुस्लमान अपनी ज़िम्मेदारी बख़ूबी निभाएँ और पाँचता दस अफ़राद पर मुश्तमिल वफ़द तहसीलदार, आर डी ओ और कलेक्टर के अलावा मुंतख़ब अवामी नुमाइंदों को याददाश्त पेश करें।

उन्होंने कहा कि साबिक़ चीफ़ मिनिस्टर कांग्रेस डाक्टर राज शेखर रेड्डी ने मुसलमानों को पाँच फ़ीसद तहफ़्फुज़ात फ़राहम करने का वाअदा किया था, ताहम चार फ़ीसद मुस्लिम तहफ़्फुज़ात हासिल हुए, लिहाज़ा चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना के चन्द्रशेखर राव‌ को भी अपना वाअदा निभाना चाहीए।

उन्होंने कहा कि रोज़नामा सियासत ने मुस्लिम मुफ़ादात के तहफ़्फ़ुज़ के लिए हमेशा ख़ुद को पेश पेश रखा, कई फ़लाही इस्कीमात पर अमल कर रहा है और हुकूमती इस्कीमात से इस्तेफ़ादा के मुआमले में मुसलमानों की रहबरी कर रहा है। उन्होंने कहा कि दस साल की जद्द-ओ-जहद के बाद महिकमा पुलिस में 940 मुस्लिम नौजवानों को मुलाज़िमत हासिल हुई है।

आमिर अली ख़ां ने कहा कि मुसलमानों को बी सी तहफ़्फुज़ात फ़राहम करने की सिफ़ारिश का हक़ सिर्फ़ बी सी कमीशन को है, लेकिन हुकूमत ने सुधीर कमेटी तशकील दी है, जो मुसलमानों को तहफ़्फुज़ात फ़राहम करने की सिफ़ारिश की मजाज़ नहीं है। हुकूमत मुसलमानों को 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात फ़राहम करने संजीदा है तो वो तमाम क़वानीन-ओ-इख़्तयारात रखने वाली बी सी कमीशन तशकील दे।

इस के लिए बी सी कमीशन मुसलमानों और दुसरे तबक़ात की पसमांदगी का तक़ाबुली डाटा पेश करे तो मुसलमानों के तहफ़्फुज़ात में इज़ाफ़ा हो सकता है, लेकिन इस के लिए तमाम मुसलमानों को मुत्तहिद होना पड़ेगा।

TOPPOPULARRECENT