Thursday , December 14 2017

तांती की तरह अंसारी को एससी में शामिल किया जाये

तांती जाति और अंसारी बिरादरी दोनों एक बराबर हैं। दोनों का अहम पेशा कपड़ा बुनाई है.

तांती जाति और अंसारी बिरादरी दोनों एक बराबर हैं। दोनों का अहम पेशा कपड़ा बुनाई है. अंसारी (मोमिन) जाति को भी तांती की तरह अनुसूचित जाति(एससी) में शामिल किया जाना चाहिए। ये मांग बुनकर विकास मंच,भागलपुर के सदर ने बिहार सरकार से की। मंच की तरफ से बुध को नरगा बाजार पर यौमे आज़ादी सेनानी अब्दुल कय्यूम अंसारी व शहीद अब्दुल हमीद के यौमे पैदाइश पर बुनकर चौपाल लगाया गया था। चौपाल की सदारत हाजी अनवार करीम साहब ने की।

इस दौरान बुकनरों ने एक आवाज में कहा कि भागलपुर के किसी भी एसेम्बली हल्के में बुनकर तबके के एसेबली मेम्बर नहीं है। इससे उनकी मसायल ठीक ढंग से नहीं रखी जाती है। मंच की तरफ से नेता नीतीश कुमार, लालू प्रसाद यादव से भागलपुर कमिश्नरी में किसी एक एसेम्बली हल्के से बुनकर को उम्मीदवार बनाया जाये।

TOPPOPULARRECENT