Thursday , December 14 2017

ताजमहल के मंदिर होने का कोई सुबूत नहीं: मरकज़

नई दिल्ली: मरकज़ी हुकूमत ने लोकसभा में साफ कर दिया कि ऐसा कोई सुबूत नहीं मिला है जिससे ये साबित हो सके कि आगरा में बना ताजमहल पुराना हिंदू मंदिर था। गौरतलब है कि ताजमहल को हिन्दुओं का मंदिर ऐलान करने और उसमें हिन्दुओं को ही पूजा करने का हक देने की मांग के लिए आगरा की अदालत में दरखास्त दायर की गई थी।

आपको बता दें कि ताजमहल पर हुए इस पूरे तनाज़े के बाद भी ताजमहल देखने के लिए आने वाले सैलानियों की तादाद में कोई कमी नहीं आई है। वज़ीर ( कल्चर) महेश शर्मा ने पीर के रोज़ लोकसभा में कहा कि हुकूमत को ऐसा कोई सासुबूत नहीं मिला है जिससे ये साबित हो सके कि आगरा में बना ताजमहल पुराना हिंदू मंदिर था।

वहीं, एनसीपी लीडर माजिद मेमन ने महेश शर्मा का ताज के ताल्लुक में दिए गए बयान को पूरी तरह सच बताया। उन्होंने कहा कि सारी दुनिया जानती है, मुगल दौर में ताजमहल बनाया गया था। वहां हिंदू मंदिर होने का सवाल ही नहीं है।

TOPPOPULARRECENT