Saturday , December 16 2017

तारकीने वतन को ज़ेरे हिरासत रखने पर अक़्वामे मुत्तहदा ब्रहम

अक़्वामे मुत्तहदा ने चेक हुकूमत पर पनाह गुज़ीनों और मुहाजिरीन के हुक़ूक़ की अदायगी में मुनज़्ज़म ख़िलाफ़वर्ज़ी बरतने का इल्ज़म आइद किया है। जुमेरात को अक़्वामे मुत्तहदा के चीफ़ बराए इन्सानी हुक़ूक़ जैद रादुल हुसैन ने अपने बयान में कहा है कि चैक रिपब्लिक में तारकीने वतन को 90 दिन से ज़िल्लत आमेज़ अंदाज़ में रखा जा रहा है।

उन्होंने चेक सदर मेलोस ज़ीमान की जानिब से इस्लाम की मुख़ालिफ़त में दिए जाने वाले बयान देने पर भी एहतेजाज किया। बयान में ये भी सामने आया है कि हर अपनी मर्ज़ी के बग़ैर ज़ेरे हिरासत उन अफ़राद से रोज़ाना दस अमरीकी डॉलर के बराबर रक़म ज़बत करने के लिए उनको ब्रहना कर के तलाशी ली जाती है।

TOPPOPULARRECENT