Thursday , December 14 2017

तारा शाहदेव मामलाः चार जजों से होगी पूछताछ

झारखंड हाइकोर्ट ने चार जजों से पूछताछ की इजाजत पुलिस को दे दी है। रांची के डीआइजी प्रवीण सिंह ने हाइकोर्ट को खत लिखकर पूछताछ की इजाजत मांगी थी। डीआइजी ने खत में लिखा था कि तारा शाहदेव मामले में चार अदालती अफसरों से रंजीत कोहली उर्

झारखंड हाइकोर्ट ने चार जजों से पूछताछ की इजाजत पुलिस को दे दी है। रांची के डीआइजी प्रवीण सिंह ने हाइकोर्ट को खत लिखकर पूछताछ की इजाजत मांगी थी। डीआइजी ने खत में लिखा था कि तारा शाहदेव मामले में चार अदालती अफसरों से रंजीत कोहली उर्फ रकीबुल हसन के ताल्लुक होने की बात सामने आ रही है। इस वजह से उनसे पूछताछ की जरूरत होगी।

डीआइजी के खत के बाद हाइकोर्ट ने पुलिस को जजों से पूछताछ की इजाजत दे दी है। जिन अदालती अफसरों से पूछताछ की इजाजत दी गई है, उनमें देवघर के जिला जज पंकज श्रीवास्तव, देवघर की अपर जिला जज वीणा मिश्रा, हजारीबाग के जिला जज नागेश्वर प्रसाद और हाइकोर्ट के मूअत्तिल रजिस्ट्रार ( विजिलेंस) मुश्ताक अहमद शामिल हैं।

अब कांड के तहक़ीक़ात करने वाले जल्द ही इन चारों अदालती अफसरों से पूछताछ करेंगे। हिंदपीढ़ी थाने में रंजीत कोहली उर्फ रकीबुल की बीवी निशानेबाज तारा शाहदेव ने 19 अगस्त को एफआइआर दर्ज कराई थी। इसमें कोहली के अलावा उसकी वालिदा कौशल रानी मुल्ज़िम हैं। इस केस में इस्तहसाल और मजहब तब्दील के लिए दबाव डालने का इल्ज़ाम है।

पहले ही दिन से यह बात सामने आयी थी कि कोहली की पकड़ अदालत में बहुत गहरे तक है। उसकी पहुंच इतनी थी कि झारखंड के वज़ीर और साबिक़ एमपी भी मुकदमों में उससे पैरवी करवाते थे। देवघर के जज पंकज श्रीवास्तव के बॉडीगार्ड के साथ कोहली एफआइआर होने के बाद भागा था। उनके बॉडीगार्ड के खिलाफ इस केस में एफआइआर दर्ज है।

वहीं कॉल डिटेल की तहक़ीक़ात में भी वीणा मिश्रा से कोहली की मुसलसल बातचीत की जिक्र है। मुश्ताक अहमद पर इल्ज़ाम है कि वह रंजीत की शादी और निकाह दोनों में शामिल थे। उन्हीं के दबाव में तारा ने रंजीत से शादी की बात कबूल की थी। मुश्ताक रंजीत के गार्जियन की तरह पेश आते थे।

TOPPOPULARRECENT